Home » इंडिया » real estate bill 2016 force from may 1
 

बिल्डरों पर नकेल कसने के लिए आज से रीयल एस्टेट बिल 2016 लागू

कैच ब्यूरो | Updated on: 1 May 2016, 14:07 IST

रविवार 1 मई से पूरे देश में रीयल एस्टेट बिल 2016 लागू हो गया है.

इस बिल के लागू होने से अब तक चली आ रही बिल्डरों की मनमानी पर अंकुश लगेगा और बिल्डरों को तयशुदा समय में ग्राहकों को मकान देना होगा.

नए बिल में बिल्डरों की स्पष्ट जवाबदेही तय की गई है, जिससे मकान खरीदने वालों ग्राहकों के हितों की रक्षा हो सकेगी.

इस बिल के लागू होने के बाद बिल्डरों को अब तय समय सीमा के भीतर खरीदारों को उनके मकान देने होंगे. प्रोजेक्ट की बिक्री सुपर एरिया पर नहीं कारपेट एरिया के हिसाब से करनी होगी.

नए बिल के मुताबिक पजेशन देने में देरी होने पर या कंस्ट्रक्शन में दोषी पाए जाने पर बिल्डरों को ब्याज और जुर्माने की अदायगी करनी पड़ेगी.

इसके अलावा अगर कोई बिल्डर किसी ग्राहक के साथ किसी भी प्रकार के धोखाधड़ी का दोषी पाया गया तो उसे तीन साल की सज़ा और जुर्माने की अदायगी करनी पड़ेगी.

इसके साथ ही बिल्डरों को ख़रीदारों से लिया 70 फीसदी पैसा प्रोजेक्ट के अकाउंट में ही रखना होगा. बिल के मुताबिक सभी राज्यों में रीयल एस्टेट अथॉरिटी होगी जिसके साथ बिल्डरों और रीयल एस्टेट एजेंट को रजिस्ट्रेशन कराना अनिवार्य  होगा.

First published: 1 May 2016, 14:07 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी