Home » इंडिया » Record: 125 crore aadhaar in the country, people have used so many times
 

रिकॉर्ड: देश में हैं 125 करोड़ आधार, जानिए लोगों ने कितनी बार किया इस्तेमाल

कैच ब्यूरो | Updated on: 27 December 2019, 15:05 IST

125 crore aadhaar: आज आधार लोगों की पहचाना के लिए एक महत्वपूर्ण दस्तावेज बन चुका है. साल 2010 में इसके लागू होने के लगभग एक दशक में भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण (UIDAI) द्वारा 125 करोड़ आधार का आंकड़ा पार कर चुका है. भारत के इन कई निवासियों के पास अब 12 अंकों की विशिष्ट पहचान संख्या है. सरकार की विज्ञप्ति के अनुसार, इन कार्ड के धारकों द्वारा प्राथमिक पहचान दस्तावेज के रूप में आधार कार्ड का बड़ी संख्या में उपयोग किया जा रहा है.

“यह इस तथ्य से स्पष्ट है कि आधार-आधारित प्रमाणीकरण सेवाओं की स्थापना के बाद से 37,000 करोड़ बार उपयोग किया गया है. वर्तमान में यूआईडीएआई को हर दिन लगभग 3 करोड़ प्रमाणीकरण अनुरोध प्राप्त होते हैं''. सरकार की विज्ञप्ति में कहा गया है कि आधार में अपने विवरण को अपडेट रखने के लिए लोगों का झुकाव अधिक है. यूआईडीएआई ने शुक्रवार तक लगभग 331 करोड़ सफल आधार अपडेट - बायोमेट्रिक और डेमोग्राफिक दर्ज किए.

वर्तमान में, यूआईडीएआई को हर दिन लगभग 3-4 लाख आधार अपडेट अनुरोध प्राप्त होते हैं. संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (यूपीए) सरकार ने 2010 में आधार को लागू किया था. यह परियोजना प्रत्येक भारतीय निवासी को एक विशिष्ट पहचान संख्या प्रदान करने के लिए बनाई गई थी, जिसका उपयोग सरकार द्वारा प्रस्तावित कुछ लाभों का लाभ उठाने के लिए किया जा सकता है.

आधार कार्ड होल्डर हो जाएं सावधान, इस गलती पर लगेगा 10,000 का जुर्माना

इस महीने की शुरुआत में आयकर विभाग ने कहा कि इस साल के अंत तक स्थायी खाता संख्या (पैन) को आधार संख्या से जोड़ना अनिवार्य है. विभाग ने कहा 31 दिसंबर, 2019 से पहले महत्वपूर्ण लिंक को पूरा करें." आधार को स्थायी खाता संख्या (पैन) को आधार से जोड़ने की समयसीमा 31 दिसंबर तक केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (सीबीडीटी) द्वारा इस साल सितंबर में जारी एक आदेश के माध्यम से बढ़ा दी गई थी.

2020 में कब-कब रहेंगे बैंक बंद, यहां देखिये नए साल का पूरा कैलेंडर

First published: 27 December 2019, 14:59 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी