Home » इंडिया » Reports Claimed Goverment likely to Order 36 more Rafale jet
 

मोदी सरकार का बड़ा निर्णय, वायुसेना को मजबूत बनाने के लिए खरीदे जाएंगे 36 और राफेल जेट- रिपोर्ट

कैच ब्यूरो | Updated on: 24 September 2019, 15:00 IST

मोदी सरकार ने अपने पहले कार्यकाल में 36 राफेल लड़ाकू जेट विमानों की खरीद की थी. इस सौदे को लेकर काफी विवाद भी हुआ. कांग्रेस पार्टी के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी लगातार मोदी सरकार पर इस सौदे को लेकर भ्रष्टाचार के आरोप लगाते रहे. लेकिन सरकार ने हमेशा से इन आरोपों को इंकार किया. वहीं अब खबर है कि मोदी सरकार वायुसेना की ताकत को बढ़ान के लिए 36 और राफेल विमानों को खरीदेगी.

मीडिया रिपोर्टों के अनुसार नरेंद्र मोदी सरकार ने 36 राफेल लड़ाकू जेट के लिए एक सौदे को अंतिम रूप दिया है. शनिवार को प्रकाशित एक भारतीय रक्षा अनुसंधान विंग की रिपोर्ट में कहा गया है कि नए आदेश को 2020 की शुरुआत में देखा जाएगा. भारतीय वायु सेना को हाल ही में फ्रांस से अपना पहला राफेल विमान सौंपा गया है. आधिकारिक तौर पर राफेल को 8 अक्टूबर को भारत को सौंपा जाएगा, जब रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह फ्रांस का दौरा करेंगे.

अगर मीडिया रिपोर्ट को सही माने तो 36 राफेल विमान और खरीदे जाते तो ऐसे में भारत के पास 72 राफेल विमानों हो जाएंगे, जो कि भारत की वायु शक्ति को बढ़ाने के लिए महत्वपूर्ण होगी. विशेष रूप से बालाकोट एयरस्ट्राइक के बाद, जब भारतीय वायुसेना ने पाकिस्तान में घुसकर आतंकी शिविरों को नष्ट किया था, तभी से भारत और पाकिस्तान दोनों ही अपनी वायु शक्ति को बढ़ाने के लिए उत्सुक हैं.

खबरों के अनुसार, भारत के विशाल रक्षा बाजार को देखते हुए अमेरिका लगातार भारत को लॉकहीड मार्टिन जेट खरीदने के लिए प्रभावित कर रहा है. हालाँकि जब से विंग कमांडर अभिनन्दन ने F 16 को मार गिराया है उसके बाद से ही इस फाइटर जेट की प्रतिष्ठा में गिरावट आई है.

 

अमेरिका के दबाव के बावजूद भारत ने एफ -21 को लेकर कोई दिलचस्पी नहीं दिखाई थी. हालांकि चाहता है. सूत्रों का कहना है कि वायुसेना बोइंग एफ -18 को खरीदने पर विचार कर रही है.

IAF ने रूस से 18 Su-30 MKI और 21 मिग -29 फाइटर जेट खरीदने का फैसला किया है. Su-30 MKI बेड़े के 272 विमानों को और बेहतर बनाने के काम पर गंभीरतापूर्वक विचारा किया जा रहा है. वहीं पीएम मोदी ने हाल ही में रूस यात्रा की है जिसके बाद से इस प्रक्रिया को और तेज कर दिया है.

राफेल की निर्माता डसॉल्ट एविएशन और यूएस 'बोइंग' की निर्माता ने भारत की 5 वीं पीढ़ी के एएमसीए फाइटर जेट बनाने में मदद करने के लिए अपने प्रस्ताव बढ़ाए हैं, बशर्ते कि वे भारतीय वायु सेना को लड़ाकू विमान की आपूर्ति के लिए आकर्षक अनुबंध जीतें.

इमरान खान का मंत्री बोला, पाकिस्तान को खत्म करना चाहता है मोदी

ओपिनियन पोल: महाराष्ट्र-हरियाणा में फिर बन सकती है बीजेपी की सरकार, कांग्रेस को भारी नुकसान

First published: 22 September 2019, 21:10 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी