Home » इंडिया » First time NSG commandos at the Republic Day Parade
 

68वां गणतंत्र दिवस: राजपथ पर भारत ने दिखाया दम, झांकियों में संस्कृति की झलक

कैच ब्यूरो | Updated on: 26 January 2017, 11:31 IST
(एएनआई)

देशभर में 68वां गणतंत्र दिवस धूमधाम से मनाया जा रहा है. इस मौके पर दिल्ली के राजपथ पर शानदार परेड का नजारा पूरी दुनिया ने देखा. राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने इंडिया गेट पर सबसे पहले तिरंगा फहराया.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी अमर जवान ज्योति पहुंचे और शहीदों को श्रद्धांजलि दी. इस बार के गणतंत्र दिवस समारोह में यूएई (संयुक्त अरब अमीरात) के क्राउन प्रिंस शेख मोहम्मद बिन जायद चीफ गेस्ट हैं. राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने उनका औपचारिक स्वागत किया.

राष्ट्रपति ने राजपथ पर तिरंगे को सलामी दी. इस दौरान हवलदार हंगपन दादा को राष्ट्रपति ने मरणोपरांत आशोक चक्र से सम्मानित किया. हंगपन दादा की पत्नी ने प्रणब मुखर्जी से यह सम्मान ग्रहण किया. 

रिपब्लिक डे की परेड में आकर्षण का केंद्र संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) की सेना के दस्ते ने भी हिस्सा लिया. गणतंत्र दिवस समारोह के लिए 60 हजार जवानों को तैनात किया गया है. इसके अलावा 15 हजार सीसीटीवी कैमरों से भी निगरानी की जा रही है. कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने भी रिपब्लिक डे समारोह में हिस्सा लिया.

इस बार के गणतंत्र दिवस की एक और खास बात रही परेड में एनएसजी कमांडो का शामिल होना. 32 साल में पहली बार एनएसजी कमांडो ने राजपथ की परेड में हिस्सा लिया. एनएसजी का गठन 1984 में हुआ था. 

राष्ट्रपति भवन से राजपथ सलामी मंच के ऊपर से हेलीकॉप्टरों का दस्ता भी करतब दिखाते हुए निकला. इसके अलावा सेना के तीनों अंगों के जवानों ने परेड में शिरकत की.  

इसके अलावा टी-90 टैंक का दस्ता और इन्फैंट्री कॉम्बैक्ट व्हीकल का दस्ता भी परेड में शामिल हुआ. इसके बाद ब्रह्मोस हथियार प्रणाली और रडार स्वाति का नजारा दिखा. रासायनिक जैविक विकिरण नाभि‍कीय अतिरक्षण स्वदेश निर्मित वाहन ने अपनी ताकत का प्रदर्शन किया. कैप्टन अनिल बंसल के नेतृत्व में स्वदेशी आकाश मिसाइल का प्रदर्शन किया गया. 

यूएई के मिलिट्री बैंड के सदस्यों का परेड में शामिल होना इस बार के आयोजन का खास आकर्षण रहा. इसके बाद 61 कैवेलरी के अश्वारोहियों का दस्ता राजपथ से गुजरा.

First published: 26 January 2017, 11:31 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी