Home » इंडिया » Rescuing sex from violence: Agents of Ishq is giving sex a good name
 

सेक्स की दुनिया में आया इश्क का एजेंट

लमट र हसन | Updated on: 21 December 2015, 20:37 IST
QUICK PILL
  • एजेंट्स ऑफ इश्क (एजेंट्स ऑफ इश्क डॉट कॉम) एक मल्टीमीडिया प्रोजेक्ट है जो सेक्स से जुड़ी भ्रांतियों, लुकाव-छिपाव को दूर कर सेक्स, प्यार और इच्छाओं को उत्साहित करने का प्लेटफॉर्म है.
  • कई लोगों को यौन दुर्व्यवहार का सामना करना पड़ता है, कइयों को अपने सेक्स रुझान की वजह पाबंदियां झेलनी पड़ती हैं. आज सेक्स के बारे में होने वाली बातचीत उसके नुकसान के बारे में ज्यादा इसके प्लेजर पहलू पर कम केंद्रित होती है.

एजेंट्स ऑफ इश्क (एजेंट्सऑफइश्क डॉट कॉम) एक नया प्रयोग है. सेक्स से जुड़ी भ्रांतियों को दूर करने का. लेकिन आप इसे किसी सैक्सोलॉजिस्ट द्वारा दूर की जाने वाली पारंपरिक व्यवस्था समझने की भूल मत करिए. यह सेक्स, प्यार और यौन इच्छाओं को प्रोत्साहित करने वाला प्लेटफॉर्म है. यहां सेक्स टैबू नहीं बल्कि सामान्य बातचीत और इससे हासिल होने वाली शानदार अनुभूति का विषय है.

कई लोग ऐसे होंगे जिन्हें यौन दुर्व्यवहार का सामना करना पड़ा होगा. ऐसे भी तमाम लोग हैं जिन्हें अपने सेक्स रुझान की वजह से पाबंदियों का सामना करना पड़ता है. आज सेक्स के बारे में होने वाली बातचीत उसके नुकसान के बारे में ज्यादा है. उसके खतरे के बारे में है, इसकी हिंसा के बारे में है, लेकिन इससे मिलने वाले प्लेजर के बारे में बहुत कम बातें होती हैं. 

जब आपको सेक्स के बारे में बात करना होता है या कोई सवाल पूछना होता है तो आप किससे पूछते हैं? या फिर आपको लगता है कि आप जो कुछ भी कहेंगे शायद उसे कोई समझ नहीं पाएगा?

सबसे बड़ी मुश्किल तब होती है जब आप किसी को अपने पहले सेक्स अनुभव का साझा करना चाहते हैं या फिर अपने पहले चुंबन के जादुई एहसास को. अगर आपके आस-पास ऐसे लोग हैं जिनसे आप यह सब कुछ साझा कर सकते हैं तो आप गिने चुने भाग्यशाली लोगों में हैं.

लेकिन अगर आपके पास ऐसा कोई नहीं है तो आपको निराश होने की जरूरत नहीं. आप बेझिझक अपने उन एहसासों को साझा कर सकते हैं. हालांकि यह जगह आपके लिए तभी काम करेगी जब आपके पास इंटरनेट का कनेक्शन हो.

सेक्स के बारे में बात करते हैं

एजेंट्स ऑफ इश्क (एजेंट्स ऑफ इश्क डॉट कॉम) एक मल्टीमीडिया प्रोजेक्ट है जो सेक्स को लेकर जुड़ी भ्रांतियों को दूर करने के लिए काम करता है. यह सेक्स, प्यार और इच्छाओं को उत्साहित करने वाला प्लेटफॉर्म है. यह मानता है कि सेक्स बेहतरीन अनुभव है और इससे मिलने वाला आनंद शानदार अनुभूति.

मुंबई की मीडिया और आर्ट्स कंपनी पारोदेवी पिक्चर्स ने इस प्रोजेक्ट को लॉन्च किया है. साइट के यूजर्स इसकी मदद से सेक्स शिक्षा, सेक्स अनुभव, अपनी चाहतों और इच्छाओं के साथ साथ सेक्स, प्यार और अंतरंग पलों को लेकर सामाजिक और कानूनी पहलुओं के बारे में बातचीत कर सकते हैं.

वेबसाइट के क्रिएटिव डायरेक्टर पारोमिता वोहरा ने कहा, 'हम प्लेजर, सुरक्षा और आपसी सहमति में यकीन करते हैं. लेकिन मुझे नहीं लगता कि सेक्स को लेकर होने वाली पूरी बातचीत बलात्कार, दिलों के टूटने, यौन दुर्व्यहार, सावधानी और सुरक्षा जैसे मसलों पर ही हो.' उन्होंने कहा, 'हम दूसरे तरह की बातचीत चाहते हैं जिसमें प्यार, खुलापन और सेक्स को सामान्य व्यवहार की तरह लिया जाए.'

सेक्स टैबू शब्द बनकर रह गया है

इस प्लेटफॉर्म का इस्तेमाल सेक्स, प्यार और इच्छाओं के बारे में सकारात्मक पहलुओं को लेकर होने वाली बातचीत में किया जाएगा. जहां बिना किसी शर्म और झिझक के सेक्स और प्यार के बारे में बातचीत की जाएगी.

वोहरा ने कहा, 'हमें आश्चर्य होता था कि भारतीयों के लिए सेक्स से जुड़ी अच्छी बातें कहां मिलेंगी? ऐसा ज्यादा कुछ दिखता ही नहीं था. इसलिए हमने कुछ नया बनाने का फैसला किया. हम अब इश्क के एजेंट बन चुके हैं.'

हर कोई इश्क का एजेंट बनने के लिए आजाद है. भारत में रहने वाले रिसर्चर, डॉक्टर, एक्टिविस्ट्स, युवाओं के साथ ही कोई भी इसका एजेंट बन सकता है. वह बताती हैं, 'आप हमें वह सवाल भेज सकती हैं जिससे आपको परेशानी हो रही है. आप हमें उस चीज को बनाने के बारे में सलाह दे सकती हैं जिसकी दुनिया को जरूरत है.' हम सेक्स वर्कशॉप भी आयोजित करने की योजना बना रहे हैं.

डिजिटल खोज

वेबसाइट पर एक युवा लड़की अपने पहले किस के बारे में बता रही है. इसके साथ ही वह अपनी सीक्रेट डायरी साझा कर रही है जिसमें कई ऐसी खट्टी-मीठी कहानियां हैं जिसका सामना कर वह बड़ी हुई है. एक ऐसी मां की कहानी है जो अपने बेटे की सेक्सुअलिटी को लेकर पशोपेश में रहीं.

कुछ और सवाल भी हैं. क्या कभी आपको ऐसा लगा कि आपको कंडोम की जरूरत नहीं है? यहां 'मुन्ना, द कंडोम' है जो आपके इस तरह के सवालों का सामना करने को तैयार है. आपके सवालों का और साथ ही उलझनों का. मसलन सेक्स क्या है? और जेंडर क्या है? 

यहां मौजूद शानदार प्ले लिस्ट्स की मदद से सेक्सी होने का मतलब समझा जा सकता है. इसके अलावा ऐसा टूल भी है जिसकी मदद से युवाओं को 'कुछ कुछ होता है' का मतलब समझाने की कोशिश की जाती है.

कई ऐसे सवाल भी हैं जो आपको हंसाएंगे. मसलन जब आप सेक्स के बारे में सोचते हैं तो आपके दिमाग में पहले पांच शब्द क्या आते हैं? जवाब आता है, राखी सावंत, ऑर्गेज्म, वैक्सिंग, लव और हिचकिचाहट. 

यह एक ईमानदार कोशिश है जो आपसे जुड़ती हैं. ऐसा कुछ जो जानना चाहते हैं या फिर इश्क का एजेंट बनना चाहते हैं.

First published: 21 December 2015, 20:37 IST
 
लमट र हसन @LamatAyub

Bats for the four-legged, can't stand most on two. Forced to venture into the world of homo sapiens to manage uninterrupted companionship of 16 cats, 2 dogs and counting... Can read books and paint pots and pay bills by being journalist.

पिछली कहानी
अगली कहानी