Home » इंडिया » Revealed: China is setting missile system for Pakistan in POK
 

खुलासा : चीन POK में पाकिस्तान के लिए स्थापित कर रहा है मिसाइल प्रणाली

कैच ब्यूरो | Updated on: 9 October 2020, 8:59 IST

लद्दाख में भारत से उलझने के बाद चीन पीओके में अपनी सक्रियता दिखा रहा है. एक रिपोर्ट के अनुसार पिछले महीने के अंत में रिसर्च एंड एनालिसिस विंग (R&AW) सूत्रों ने जानकारी दी कि चीन पाकिस्तान को पीओके में एक नई मिसाइल प्रणाली स्थापित करने में मदद कर रहा है. एक रिपोर्ट के अनुसार सूत्रों ने कहा कि पीएलए और पाकिस्तान सेना के जवान पीओके में लसाडना ढोक के पास सतह से हवा में मार करने वाली मिसाइल (एसएएम) प्रणाली की स्थापना के लिए निर्माण कार्य कर रहे हैं. जानकारी मिली है कि लगभग 130 पाकिस्तानी सेना के जवान और 25-40 नागरिक इस निर्माण स्थल पर काम कर रहे हैं. सिस्टम के लिए कंट्रोल रूम, बाग जिले में पाकिस्तानी सेना के ब्रिगेड मुख्यालय पर स्थित होगा.

रिपोर्ट में कहा गया है कि तीन अधिकारियों सहित दस पीएलए कर्मियों को नियंत्रण कक्ष में तैनात किया जाएगा. R & AW सूत्रों का कहना है कि झेलम जिले के चिनारी और पीओके के हटियन बाला जिले के चकोठी में भी इसी तरह के निर्माण की सूचना मिली थी. इससे पहले जून में खुफिया एजेंसियों ने कहा था कि पाकिस्तान ने बीजिंग में पीएलए मुख्यालय में एक वरिष्ठ सेना अधिकारी को दोनों सेनाओं के बीच बेहतर तालमेल बनाने के लिए तैनात किया था. 5 फरवरी को भारतीय तटरक्षक बल ने पाकिस्तानी जलक्षेत्र में एक चीनी युद्धपोत को भी देखा था.


पाकिस्तानी और चीनी नौसेनाओं ने जनवरी में एक द्विपक्षीय अभ्यास (bilateral exercise) किया था. सूत्रों ने कहा कि चीन पाकिस्तान को नौसेना से जुडी सामग्री हासिल करने में भी मदद कर रहा है. फिलहाल पाकिस्तान आठ युआन वर्ग की पनडुब्बियों और चार प्रकार के 054A फ्रिगेट प्राप्त करने की प्रतीक्षा कर रहा है.

तीन दिन पहले भारतीय वायुसेना प्रमुख एयर चीफ मार्शल आरकेएस भदौरिया ने कहा कि भारत इस बात से अवगत है कि चीन और पाकिस्तान निकट सहयोग कर रहे हैं और पाकिस्तान अब अपनी रक्षा आपूर्ति के लिए चीन पर निर्भर है. दोनों एक साथ कई अभ्यास कर रहे हैं ... इस गतिविधि में उनके द्विपक्षीय अभ्यास की शर्तें बढ़ रही हैं.” 3 सितंबर को चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ जनरल बिपिन रावत ने कहा कि भारतीय सशस्त्र बल किसी से भी निपटने के लिए पूरी तरह से तैयार हैं.

चीन की तानाशाही के खिलाफ UN में 40 देश हुए खड़े, सपोर्ट आ गया में पाकिस्तान

 

First published: 9 October 2020, 8:59 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी