Home » इंडिया » Rohith Vemula's family to embrace Buddhism.
 

रोहित वेमुला के परिवार ने अपनाया बौद्ध धर्म

कैच ब्यूरो | Updated on: 14 April 2016, 13:08 IST

बाबा साहब भीमराव अंबेडकर की जयंती पर रोहित वेमुला के परिवार ने बौद्ध धर्म अपना लिया है. रोहित की मां राधिका और भाई राजा वेमुला ने मुंबई में अपना धर्म परिवर्तन कर लिया.

मुंबई में एक कार्यक्रम के दौरान दोनों ने अपने शपथ में कहा कि अब वो पूजा-पाठ नहीं करेंगे और श्राद्ध में उनका कोई विश्वास नहीं है.कार्यक्रम के बाद रोहित के भाई राजा ने कहा कि वो लोग बुद्ध के उपदेशों से काफी प्रभावित हैं. इसी वजह से ये फैसला लिया.

रोहित वेमुला हैदराबाद सेंट्रल यूनिवर्सिटी के छात्र थे. इसी साल जनवरी में वेमुला ने विश्वविद्यालय प्रशासन पर भेदभाव का आरोप लगाते हुए खुदकुशी कर ली थी. रोहित के सुसाइड को दलित छात्रों के साथ भेदभाव के प्रतीक के तौर पर देखा गया.

रोहित वेमुला के परिवार ने मुंबई की अंबेडकर ट्रस्ट सोसाइटी में बौद्ध धर्म अपनाने का फ़ैसला लिया था. बाबा साहब अंबेडकर के पौत्र प्रकाश अंबेडकर ने बुधवार को बताया था कि रोहित की मां और भाई बौद्ध धर्म स्वीकार करेंगे. पढ़ें:रोहित वेमुला के भाई को दिल्ली सरकार देगी क्लर्क की नौकरी 

बौद्ध परंपरा से हुआ था रोहित का अंतिम संस्कार

दरअसल रोहित वेमुला हैदराबाद विश्वविद्यालय में रिसर्च स्कॉलर थे. एक विवाद के बाद उनकी फ़ेलोशिप रोक दी गई थी. साथ ही चार अन्य दलित छात्रों के साथ उन्हें हॉस्टल से निकाल दिया गया था.

रोहित की खुदकुशी के बाद देशभर में एक नई बहस छिड़ गई थी. रोहित जिस अंबेडकर स्टूडेंट्स एसोसिएशन के सदस्य थे उसे केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार के एक मंत्री ने राष्ट्रविरोधी बताया था.

rohit-brother

रोहित के परिवार के बौद्ध धर्म अपनाने के पहले संकेत उनके अंतिम संस्कार के वक़्त मिले थे. रोहित का अंतिम संस्कार बौद्ध रीति से किया गया था. तब उनके भाई राजा ने कहा था कि रोहित दिल से बौद्ध थे.

इसके बाद रोहित के दलित होने को लेकर विवाद खड़ा हो गया. आरोप लगाया गया कि रोहित की मां ने एक गैर दलित से शादी की थी. रोहित की मां ने आंध्र प्रदेश हाईकोर्ट में कहा था कि उन्होंने अपने बच्चों की परवरिश दलित परंपराओं के हिसाब से की है. 

पढ़ें:कितना बड़ा नुकसान है रोहित की मौत संघ के दलित एजेंडे के लिए?

First published: 14 April 2016, 13:08 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी