Home » इंडिया » Rose Valley chit fund scam: TMC MP Sudip Bandhopadhyay has been arrested by CBI
 

रोज वैली चिटफंड घोटाला: CBI ने टीएमसी सांसद सुदीप बंदोपाध्याय को किया गिरफ़्तार

कैच ब्यूरो | Updated on: 3 January 2017, 16:40 IST

सीबीआई ने मंगलवार को तृणमूल कांग्रेस सांसद सुदीप बंदोपाध्याय को रोजवैली चिटफंड घोटाला मामले में पूछताछ के बाद गिरफ्तार कर लिया.

इस मामले में सुदीप बंदोपाध्याय सीबीआई के सामने पूछताछ के के लिए पेश हुए थे.  जानकारी के मुताबिक जांच एजेंसी सुदीप बंदोपाध्याय के जवाबों से संतुष्ट नहीं थी. सीबीआई ने सुदीप बंदोपाध्याय से पूछताछ के लिए तीसरा नोटिस जारी किया था. पहले के दो नोटिसों का तृणमूल सांसद ने कोई जवाब नहीं दिया था.

30 दिसंबर को सांसद तपस पाल की गिरफ्तारी

इससे पहले सीबीआई ने इसी मामले में टीएमसी के एक अन्य सांसद तपस पाल को 30 दिसंबर 2016 को पूछताछ के बाद कोलकाता में गिरफ्तार कर लिया था. तपस पाल रोजवैली चिटफंड में डायरेक्टर के पद पर थे.

गिरफ्तारी के बाद पाल ने कहा, "मैं निर्दोष हूं. मैं किसी भी तरह से घोटाले में शामिल नहीं हूं और सच्चाई शीघ्र सामने आएगी." तपस पाल को तीन दिन की रिमांड पर भेजा गया है.

वहीं टीएमएस इस सीबीआई की इस कार्रवाई को बदले की भावना करार दिया है. टीएमसी का कहना है कि केंद्र सरकार जांच एजेंसियों का दुरुपयोग कर रही है. टीएमसी के सांसद डेरेक ओ-ब्रायन का कहना है कि नोटबंदी के खिलाफ आवाज उठाने से केंद्र सरकार बेवजह उनके सांसदों को परेशान कर रही है. 

गौरतलब है कि सीबीआई सुप्रीम कोर्ट के निर्देश पर करोड़ों रुपये के रोज वैली कंपनी के चिट फंड घोटाले की जांच कर रही है. कंपनी पर निवेशकों के कई हजार करोड़ रुपये ठगने का आरोप है.

इस मामले में टीएमसी के सांसद कुणाल घोष और श्रींजॉय बोस और राज्य सरकार में मंत्री मदन मित्रा को पहले ही गिरफ्तार किया जा चुका है. हालांकि मदन मित्रा को बाद में जमानत मिल गई.

First published: 3 January 2017, 16:40 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी