Home » इंडिया » Rotomac owner Vikram Kothari, son Rahul arrested by CBI over alleged loan default of Rs 3,695 crore
 

रोटोमैक के मालिक विक्रम कोठारी को CBI ने बेटे समेत किया गिरफ्तार, 3695 करोड़ की हेराफेरी का आरोप

कैच ब्यूरो | Updated on: 22 February 2018, 23:44 IST

रोटोमैक पेन कंपनी के मालिक विक्रम कोठारी और उनके बेटे राहुल को केंद्रीय जांच एजेंसी(सीबीआई) ने गुरुवार रात में कानपुर से गिरफ्तार कर लिया है. उन पर सात बैंको की शाखाओं से लिए 3,695 करोड़ रूपये का लोन नहीं चुकाने का आरोप है.

बुधवार को सीबीआई ने लगातार तीसरे दिन विक्रम कोठारी और उनके बेटे से नई दिल्ली स्थित स्थित अपने हेडक्वार्टर में लंबी पूछताछ की थी. इससे पहले ये मामला सामने आने के बाद कानपुर में भी उनसे पूछताछ हुई थी. उनके कानपुर स्थित घर, ऑफिस समेत अन्य ठिकानो को भी सीबीआई ने पिछले सप्ताह सीज कर दिया था.

सीबीआई का आरोप है कि विक्रम कोठारी, उनकी पत्नी साधना और बेटे राहुल जो कि रोटोमैक ग्लोबल प्राइवेट लिमिटिड के निदेशक है. इन सबने बैंक से लिए गए लोन के रुपयों को उद्देश्य से अलग चीजों में लगाया. सीबीआई ने बैंक ऑफ बड़ोदा की शिकायत के बाद केस दर्ज किया था.

बैंक ने इस मामले की जांच कर रही एजेंसियों से कोठारी और उनके परिवार के सदस्यों के पासपोर्ट जब्त करने की अपील की थी. कोठारी पर आरोप है कि उन्होंने ये लोन कई साल पहले थे जिसमें अब वो डिफल्टर हैं. पिछसे साल 8 दिसंबर को कानपुर स्थिच रोटोमैक पेन की मैन्यूफैक्चरिंग यूनिट बंद हो गई थी. बैंको के लोन ना चुका पाने की वजह से ये हुआ था.

यूनिट के बंद होने की वजह से 450 कर्मचारियों को निलबिंत कर दिया गया था. इसमें 250 महिलाएं भी शामिल थीं. गौरतलब है कि घोटाले का मामला सामने आने के बाद प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने रोटोमैक पेन के मालिक विक्रम कोठारी और उसके परिवार के जमीन, समुद्र और हवाई मार्ग से भारत छोड़ने पर रोक लगा दी थी. 

पीएनबी महाघोटाले के आरोपी नीरव मोदी, मेहुल चोकसी और उनके परिवार के लोगों के भारत छोड़कर विदेश भाग जाने के बाद ईडी ने ये फैसला लिया था. नीरव मोदी, मेहुल चौकसी पर गलत तरीके से बैंक से हजारों करोड़ रूपये निकालने का आरोप है.

 ये भी पढें- CBI ने रोटोमैक कंपनी के मालिक को हिरासत में लिया, 800 करोड़ का बैंक लोन न चुकाने का आरोप

First published: 22 February 2018, 23:42 IST
 
अगली कहानी