Home » इंडिया » RSS chief says on hindu Rastra- without muslim there will be no Hindutava
 

हिन्दू राष्ट्र पर मोहन भागवत का बयान- बिना मुसलमान नहीं बचेगा हिंदुत्व

कैच ब्यूरो | Updated on: 19 September 2018, 9:01 IST
(ANI)

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) प्रमुख मोहन भागवत ने मुसलामानों को लेकर एक बड़ा बयान दिया है. भविष्य के भारत के सपने के बारे में बताते हुए RSS के तीन दिवसीय सम्मेलन में भागवत ने वसुधैव कुटुंबकम को भारत का मूल स्वभाव बताया. तीन दिवसीय सम्मलेन के दूसरे दिन मंगलवार को भागवत ने हिंदुत्व के मुद्दे पर आरएसएस का दृष्टिकोण समझाते हुए बताया कि आरएसएस के हिन्दू राष्ट्र की कल्पना कैसी है.

आरएसएस के मुखिया भागवत ने कहा, ''हम हिंदू राष्ट्र में विश्वास रखते हैं, लेकिन इसका अर्थ ये नहीं है कि हम मुसलमानों के खिलाफ हैं.'' साथ ही उन्होने आगे ये भी कहा कि आरएसएस सुधैव कुटुंबकम् को मानता है. जिसके अंतर्गत सभी धर्मों क स्थान मिला हुआ है.

उन्होंने कहा, ''हम कहते हैं कि हमारा हिंदू राष्ट्र है. हिंदू राष्ट्र है इसका मतलब इसमें मुसलमान नहीं चाहिए, ऐसा बिल्कुल नहीं होता है. जिस दिन ये कहा जाएगा कि यहां मुस्लिम नहीं चाहिए, उस दिन वो हिंदुत्व नहीं रहेगा.''

हिंदुत्व के बारे में रखे अपने विचार

हिंदुत्व के बारे में अपना दृष्टिकोण साझा करते हुए भागवत ने कहा कि ये संघ की कोई अपनी खोज नहीं है. हिंदुत्व प्राचीन समय से विराजमान है. इस मामले में भागवत ने कहा, ''हिंदुत्व का विचार संघ ने नहीं खोजा, यह पहले से चलता आया है. दुनिया सुख की खोज बाहर कर रही थी, हमने अपने अंदर की. वहीं से हमारे पूर्वजों को अस्तित्व की एकता का मंत्र मिला.''

भागवत ने राजनीति और आरएसएस को दूर बताते हुए कहा कि संघ ,हमेशा राजनीती से दूर रहता है. लेकिन साथ ही में उन्होंने ये भी कहा कि किसी विशेष मुद्दे पर संघ अपनी राय जरूर देता है. भागवत ने राजनीति से जुड़ाव की बात पर सफाई देते हुए कहा, ''आरएसएस राजनीति से दूर रहता है लेकिन राष्ट्रीय हितों के मुद्दों पर संगठन विचार रखता है. हम स्वयं सेवकों से कभी किसी पार्टी विशेष के लिए काम करने के लिए नहीं कहते, हम उनसे राष्ट्रीय हितों के लिए काम करने वालों का साथ देने को अवश्य कहते हैं.''

First published: 19 September 2018, 8:05 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी