Home » इंडिया » RSS leader Indresh Kumar says isha born in cow shed so that is call mother cow
 

लिंचिंग पर RSS नेता इंद्रेश कुमार का तर्क- लोग बीफ खाना छोड़ दें तो रुक जाएंगे मामले

कैच ब्यूरो | Updated on: 24 July 2018, 12:44 IST

राजस्थान के अलवर में गो-तस्करी के आरोप में हुई रकबर खान की हत्या पर पूछे गए सवाल के जवाब में RSS नेता इंद्रेश कुमार ने कहा कि देश में लोग बीफ खाना बंद कर दें तो मॉब लिंचिंग रुक जाएगी. इंद्रेश कुमार ने कहा कि मॉब लिंचिंग का स्वागत नहीं किया जा सकता. लेकिन अगर लोग गाय का मीट खाना बंद कर दें तो ऐसे अपराध रुक जाएंगे.

इंद्रेश कुमार ने कहा कि ईसामसीह गौशाला में पैदा हुए थे इसीलिए उस जगह को मदर काऊ कहा जाता है. दुनिया का ऐसा कोई भी धर्म नहीं है जो गोहत्या की इजाजत देता हो. उन्होंने दावा किया कि इस्लाम से लेकर ईसाई धर्म के अंदर गोहत्या की कोई जगह नहीं है.

पढ़ें- अलवर लिंचिंग: रकबर को अस्पताल ले जाने की बजाय गायों के लिए गाड़ी का इंतजाम कर रही थी पुलिस !

वहीं बीजेपी नेता नेता विनय कटियार ने इससे भी विवादित बयान दिया है. उन्होंने कहा कि मुस्लिम गाय को छूने से पहले कई बार सोचें. यह इस देश के करोड़ों लोगों की भावना का प्रश्न है. 

बता दें कि गो-तस्करी के शक में कथित गोरक्षकों ने शुक्रवार की रात रकबर और असलम नामक युवकों की पिटाई कर दी थी. इस दौरान असलम भाग निकला था, लेकिन रकबर को भीड़ पीटती रही थी. इस मामले में अब पुलिस की भूमिका पर सवाल उठ रहे हैं. आरोप है कि पुलिस रकबर को अस्पताल ले जाने की बजाय गाय के लिए गाड़ी का इंतजाम कर रही थी.

पढ़ें- लिचिंग पर बोले राहुल गांधी- मोदी के क्रूर 'न्यू इंडिया' में इंसान को मरने के लिए छोड़ दिया जाता है

आरोप यह भी है कि पुलिस मौके पर पहुंची तो जरूर, लेकिन रकबर को अस्पताल ले जाने की बजाय ढाई घंटे से ज़्यादा समय तक यहां-वहां घुमाती रही. इसके बाद उसे थाने ले गई. इस मामले में पता चला है कि रकबर भीड़ के हाथों जितना घायल नहीं हुआ उससे ज़्यादा वो पुलिस की हिरासत में हुआ और यही उसकी जान जाने की वजह बनी.
First published: 24 July 2018, 9:32 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी