Home » इंडिया » RSS mohan bhagwat reaction on PM modi statement on Ram Mandir
 

इंटरव्यू में PM मोदी के राम मंदिर पर दिए बयान के बाद RSS ने की ये बड़ी मांग

कैच ब्यूरो | Updated on: 2 January 2019, 11:13 IST

प्रधानमंत्री मोदी के न्यूज़ एजेंसी एएनआई को दिए इंटरव्यू के बाद राम मंदिर मसले पर मात्र संगठन आरएसएस की तरफ से मोहन भागवत ने प्रत्रिक्रिया दी है. पीएम मोदी ने राम मंदिर निर्माण को लेकर अध्यादेश जारी करने के लिए कानूनी प्रक्रिया पूरी होने की बात कही है.

संघ ने आगे कहा है कि जनता ने पीएम मोदी पर विश्वास करते हुए ही भाजपा को बहुमत दिया. साथ ही उन्होंने कहा कि मोदी सरकार 2019 में इसी कार्यकाल में अपना राम मंदिर निर्माण का वादा पूरा करे, देश की जनता को भाजपा और पीएम मोदी से यही उम्मीद है. इस बारे में आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत ने पीएम मोदी के फैसले का स्वागत करते हुए कहा है कि साल 2019 में राम मंदिर निर्माण का वादा पूरा होना चाहिए. भागवत ने कहा है कि पीएम मोदी का ये कदम एक सकारात्मक कदम प्रतीत होता है.

इस मामले में संघ की तरफ से ट्वीट किया गया जिसमे लिखा है, ''प्रधानमंत्री का अयोध्या में श्रीराम के भव्य मंदिर बनाने के संकल्प का अपने साक्षात्कार में पुनः स्मरण करना यह भाजपा के पालमपुर अधिवेशन(1989) में पारित प्रस्ताव के अनुरूप ही है.''

 

इस मामले में RSS के सह सरकार्यवाह दत्तात्रेय होसबोले ने भी एक बयान जारी करते हुए कहा, ''प्रधानमंत्री जी का वक्तव्य मंदिर निर्माण की दिशा में सकारात्मक कदम लगता है. प्रधानमंत्री ने अयोध्या में श्रीराम के भव्य मंदिर बनाने के संकल्प का अपने साक्षात्कार में पुनः स्मरण करना यह बीजेपी के पालमपुर अधिवेशन (1989) में पारित प्रस्ताव के अनुरूप ही है. इस प्रस्ताव में बीजेपी ने कहा था कि अयोध्या में राम जन्मभूमि पर भव्य राममंदिर बनाने के लिए परस्पर संवाद से अथवा सुयोग्य कानून बनाने (Enabling Legislation) का प्रयास करेंगे.''

इसी एक साथ भाजपा के राम मंदिर निर्माण के वादे का हवाला देते हुए होसबोले ने कहा कि नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में भाजपा ने साल 2014 में अपने चुनावी घोषणापत्र में अयोध्या के राममंदिर निर्माण का वादा किया था. उन्होंने घोषणा पत्र में संविधान के दायरे के अंदर उपलब्ध सभी प्रयास करने का भी वादा किया. अब भारत की जनता ने उनके वादे पर भरसा करते हुए उन्हें बहुमत से जिताया था. अब भाजपा सकरा को इसी कार्यकाल में अपना वादा पूरा करना चाहिए. 

First published: 2 January 2019, 11:12 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी