Home » इंडिया » RSS suggested RBI governor Urjit patel to work with modi or resign, Swadeshi jagran manch
 

RSS के संगठन ने RBI गवर्नर को दी नसीहत- मोदी के साथ काम करें या इस्तीफा दें

कैच ब्यूरो | Updated on: 1 November 2018, 12:54 IST
देश की सर्वोच्च जांच एजेंसी में पड़ी रार के बाद अब देश की स्वायत्त संस्था रिज़र्व बैंक ऑफ़ इंडिया और सरकार के बीच अनबन थमने का नाम नहीं ले रही है. बीते दिनों रिज़र्व बैंक ऑफ़ इंडिया की तरफ से सरकार पर बैंक के कामों में दखलंदाजी करने का आरोप लगाया. जिसके बाद से ही ऐसी संभावना जताई जा रही थी कि सरकार इतिहास में पहली बार बैंक पर सेक्शन 7 लागू कर देगी. 
इन्हीं अटकलों और अनबन के बीच RSS के संगठन स्वदेशी जागरण मंच ने गवर्नर उर्जित पटेल को लेकर बड़ा बयान दिया है. आरबीआई मामले मे नसीहत देते हुए मंच ने कहा है कि उर्जित पटेल को या तो मोदी सरकार के साथ मिलकर काम करना चाहिए या फिर उन्हें अपने पद को छोड़ देना चाहिए.  आरएसएस के संगठन स्वदेशी जागरण मंच के सह-संयोजक अश्विनी महाजन के मुताबिक, "आरबीआई के गवर्नर को सरकार के साथ मिलकर काम करना चाहिये वरना वह इस्तीफा दे सकते हैं."
 

साथ ही उन्होंने कहा कि केंद्रीय बैंक के डिप्टी गवर्नर के साथ ही बाकी अन्य अधिकारियों को भी सरकार के साथ असहमति होने पर सार्वजनिक तौर पर नहीं बोलना चाहिए. बल्कि इस तरह के मामलों को बैंक के निदेशक मंडल में उठाना चाहिए.
गौरतलब है कि देश की सर्वोच्च जांच एजेंसी में चल रहे घमासान के बाद अब रिज़र्व बैंक ऑफ़ इंडिया सरकार के खिलाफ मुखर होती दिख रही है. रिज़र्व बैंक के वरिष्ठ अधिकारीयों ने आरोप लगाया है कि सरकार बैंक के कामकाज में दखल दे रही है. इतना ही नहीं इसके लिए सरकार को चेताया है कि ऐसा न हुआ तो इसके बुरे नतीजे देखने को मिल सकते हैं.
इतना ही नहीं इस बयान के अलावा आरबीआई बैंक के कर्मचारी यूनियन ने एक चिट्ठी लिख कर बताया है कि सरकार के द्वारा बैंक की स्वायत्तता को खतरा पहुंचाया जा रहा है. बैंक के कर्मचारियों ने डिप्टी गवर्नर विरल आचार्य के उस बयान का भी समर्थन किया है, जिसमें उन्होंने सरकार की दखलअंदाजी को लेकर अपनी बात कही थी.
First published: 1 November 2018, 12:20 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी