Home » इंडिया » RSS wing plans to popularise claims of eight major benefits of cow dung and other cow products.
 

'अपराध मुक्त भारत' के लिए आरएसएस ने सुझाया- गाय के दूध से घटता है अपराध

कैच ब्यूरो | Updated on: 6 February 2018, 11:23 IST

राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ से जुड़ी संस्था ने महायज्ञ के जरिए लोगों के बीच गाय और उनकी भलाई के लिए जागरुकता अभियान चलाने का फैसला किया है. आरएसएस की संस्था गौ सेवा ने देशभर में 15 दिनों का गौ जाप महायज्ञ करने की बात कही है. यह गौ जाप महायज्ञ 31 मार्च से देशभर के मंदिरों में आयोजित किया जाएगा.

आरएसएस अखिल भारतीय गौ सेवा अध्यक्ष शंकर लाल ने कहा कि इस महायज्ञ को करने के पीछे संस्था का मकसद यह है कि इससे लोगों के बीच गायों और उनकी भलाई के लिए जागरुकता फैले. उन्होंने दावा किया कि भैंस और जर्सी गायों का दूध पीने से अपराध बढ़ रहा है.

 

शंकर लाल ने कहा, “भैंस और जर्सी गाय का दूध पीने से गुस्सा पैदा होता है, जिसके कारण व्यक्ति अपना आपा खो देता है और यही अपराध को बढ़ाता है. वहीं दूसरी ओर गाय का दूध सात्विक है जो कि व्यक्ति को शांति देता है और अपराध को घटाता है. इसलिए लोगों को गाय का दूध पीना चाहिए." उन्होंने कहा कि गाय के दूध के फायदे बताने के लिए लोगों को जागरुक किया जाएगा जिसका उद्देश्य अपने लक्ष्य ‘अपराध मुक्त भारत’ को प्राप्त करना है.

आरएएसएस की इस संस्था ने गाय के गोबर के भी आठ मुख्य फायदे बताए हैं. संस्था ने कहा कि गाय का दूध पीने से अपराध दर में कमी आती है और गाय के गोबर से निकलने वाले तरल पदार्थ और उसमें तुलसी मिलाकर पी जाए तो यह प्रसव पीड़ा के दौरान नॉर्मल डिलीवरी करने में मदद करता है.

आरएसएस के वरिष्ठ पदाधिकारी ने दावा किया है कि पिछले आठ सालों में 3 हजार महिलाओं की बिना सर्जरी के डिलीवरी हुई है क्योंकि उन्होंने प्रसव पीड़ा के दौरान 40 ग्राम गाय के गोबर से निकलने वाले तरल पदार्थ में तुलसी मिलाकर ली थी.

शंकर लाल ने दावा किया कि ऐसा करने के दो घंटे के अंदर ही महिलाओं की नॉर्मल डिलीवरी हो जाती है. इसके अलावा उन्होंने यह भी कहा कि अगर गर्भावस्था के आठ महीने तक महिलाएं गाय के दूध से बनी दही एक चांदी के कटोरे में रोजाना पिएं तो बच्चे का रंग गोरा होगा और वह बुद्धिमान होने के साथ-साथ सात्विक व्यवहार वाला होगा.

First published: 6 February 2018, 11:23 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी