Home » इंडिया » rss women wing head given controversial remark on islam
 

आरएसएस महिला शाखा प्रमुख की इस्लाम पर विवादित टिप्पणी

कैच ब्यूरो | Updated on: 7 July 2016, 14:21 IST
(राष्ट्रीय सेविका समिति)

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) की महिला शाखा ‘राष्ट्रीय सेविका समिति’ ने बुधवार को अपने कार्यक्रम में इस्लाम धर्म के बारे में विवादित बयान जारी करते हुए उसे ‘आतंक की जड़’ कह दिया.

संघ की महिला शाखा की ओर से ‘आतंकवाद: एक वैश्विक समस्या’ के नाम से आयोजित इस कार्यक्रम में लोकसभा की अध्यक्ष सुमित्रा महाजन बतौर मुख्य अतिथि मौजूद थीं. यह कार्यक्रम देश की राजधानी दिल्ली में आयोजित था.

इस कार्यक्रम में ‘राष्ट्रीय सेविका समिति’ की प्रमुख आशा शर्मा ने कहा कि इस्लाम कोई धर्म नहीं बल्कि राजनीतिक साजिश है.

आशा ने कहा, "इस्लाम जहां-जहां गया है, वहां पर विध्वंस साथ लेकर गया है. यह इतिहास है और हम इससे इनकार नहीं कर सकते."

इसके साथ ही आशा शर्मा ने आगे कहा, "आज भी उनकी सोच यही है. जहां 10 फीसदी हैं, वहां पर चुप कर के रहेंगे, 15 फीसदी हो गए तो अपनी बात कह कर चुप करेंगे, 25 फीसदी हो गए तो अपनी बात को मनवाने का प्रयास करेंगे और ज्यादा बढ़ गए, तो किसी की बात नहीं सुनेंगे."

कार्यक्रम में इस्लाम के साथ ईसाई धर्म पर भी निशाना साधते हुए आशा शर्मा ने कहा, "जहां इस्लाम शिक्षा की कमी के कारण पैदा हुआ है, वहीं ईसाई गरीबी की वजह से."

उन्होंने कहा, "जहां शिक्षा है वहां इस्लाम नहीं है, जहां-जहां शिक्षा बढ़ रही है, जहां समृद्धि आई है वहां ये दोनों धर्म धीरे-धीरे खत्म हो रहे हैं. जहां गरीबी है वहां ईसाई धर्म है. गरीबी दूर होगी तो ईसाइयत का प्रभाव धीरे-धीरे खत्म हो जाएगा."

महिला शाखा की ओर से आयोजित इस कार्यक्रम में लोकसभा की अध्यक्ष सुमित्रा महाजन ने भी अपने विचार रखे. महाजन ने बांग्लादेश हमले का जिक्र करते हुए कहा, "रमजान के दिनों में इस प्रकार से गोलियां चलाने वाले मुसलमान नहीं हो सकते." यह कार्यक्रम इस समिति की संस्थापक लक्ष्मीबाई केलकर के जन्मदिवस पर आयोजित किया गया था.

First published: 7 July 2016, 14:21 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी