Home » इंडिया » RTI reveals rs 29.41 crores spent for the transportation of notes after demonetisation
 

एयरफोर्स ने नोटबंदी के बाद नोटों की ढुलाई में खर्च किए 29.41 करोड़- RTI में खुलासा

कैच ब्यूरो | Updated on: 9 July 2018, 10:24 IST

प्रधानमंत्री मोदी ने आठ नवंबर 2016 को 500 और 1000 रुपये के पुराने नोटों को बंद करने की घोषणा कर दी थी. पीएम की इस घोषणा के बाद देश में नोटों के लिए हाहाकार मच गया था. देश से 86 फीसदी नोट व्यवस्था से बाहर हो गए थे. इसके बाद सरकार ने 500 और 2000 रुपये के नए नोट जारी किये थे.

नोटबंदी के बाद जारी 2000 और 500 रुपये के नए नोटों से अविलंब करने की आवश्यकता थी. सरकार को जल्द से जल्द इसकी भरपाई करनी थी. तब मोदी सरकार ने भारतीय वायु सेना के अत्याधुनिक परिवहन विमान- सी -17 और सी -130 जे सुपर हरक्यूलिस का इस्तेमाल कर जल्द से जल्द नोट पहुंचाने की कोशिश की थी.

अब आरटीआई से खुलासा हुआ है कि नोटबंदी के बाद देश में नए नोटों की ढुलाई में वायुसेना ने 29.41 करोड़ रुपए खर्च कर दिए थे. भारतीय वायु सेना द्वारा एक आरटीआई आवेदन का दिये गए जवाब के अनुसार, सरकार के आठ नवंबर 2016 को 1000 और 500 रुपये के पुराने नोटों को अचानक से प्रचलन से बाहर करने के बाद उसके परिवहन विमानों ने सेक्युरिटी प्रिंटिंग प्रेस और टकसालों से देश के विभिन्न हिस्सों में नोटों की ढुलाई करने के लिये 91 चक्कर लगाए थे.

पढ़ें- भारत के फर्नीचर मार्केट में स्वीडिश कंपनी की एंट्री, 40 शहरों में करेगी 10,500 करोड़ का निवेश

बता दें कि ये आरटीआई सेवानिवृत्त कोमोडोर लोकेश बत्रा ने डाली थी. उनकी आरटीआई के जवाब में वायु सेना ने कहा कि उसने सरकारी स्वामित्व वाले सेक्युरिटी प्रिंटिंग एंड मिंटिंग कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया और भारतीय रिजर्व बैंक नोट मुद्रण प्राइवेट लिमिटेड को अपनी सेवाओं के बदले में 29.41 करोड़ रुपये का बिल सौंपा है. इस बत्रा ने कहा, "मेरी राय है कि सरकार को रक्षा परिसंपत्ति के इस्तेमाल से बचना चाहिये और इसकी जगह असैन्य परिवहन विमान की सेवाएं आसानी से ली जा सकती थीं."

बता दें कि आरबीआई और सरकारी आंकड़ों के अनुसार, 8 नवंबर 2016 तक 500 के 1716.5 करोड़ नोट थे और 1000 रुपये के 685.8 करोड़ नोट थे. इस तरह इन नोटों का कुल मूल्य 15.44 लाख करोड़ रुपये था जो उस समय प्रचलन में मौजूद कुल मुद्रा का तकरीबन 86 फीसदी था.

First published: 9 July 2018, 10:16 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी