Home » इंडिया » Russia support India in UNSC on Article 370 in Jammu and Kashmir, China Pakistan Imran Khan
 

कश्मीर मुद्दे पर UNSC में भी पिटा पाकिस्तान, चीन भी कुछ नहीं कर पाया

कैच ब्यूरो | Updated on: 17 August 2019, 10:10 IST

जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाए जाने को लेकर पाकिस्तान तरह-तरह के पैंतरे चल रहा है. पाकिस्तान का साथ देने के लिए चीन ने UNSC में कश्मीर को लेकर बंद दरवाजे में मीटिंग बुलाई थी. लेकिन इस मीटिंग में चीन और पाकिस्तान को बड़ा झटका लगा है. UNSC में कश्मीर को लेकर रूस ने भारत के साथ अपनी दोस्ती निभाई. 

रूस ने कश्मीर को लेकर साफ-साफ कहा कि यह सिर्फ द्विपक्षीय मसला है. बैठक खत्म होने के बाद चीन के राजदूत ने कहा कि भारत के इस कदम से कश्मीर की मौजूदा स्थिति बदल गई है. कश्मीर में हालात चिंताजनक हैं. चीन ने कहा कि कोई पक्ष एकतरफा कार्रवाई न करे. एकतरफा कार्रवाई वैध नहीं है. 

वहीं, बैठक में पाकिस्‍तान और चीन को दुनिया के किसी और देश ने समर्थन नहीं किया. रूस के अलावा दूसरे देशों ने भी भारत का समर्थन किया. बैठक से पहले पाकिस्तानी पीएम इमरान खान ने अमेरिकी राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप को फोन किया. वह ट्रंप से समर्थन मांगना चाहते थे. लेकिन ट्रंप ने इमरान खान को दो टूक जवाब दिया. ट्रंप ने कहा कि भारत और पाकिस्‍तान अपने द्विपक्षीय मुद्दे बातचीत से हल करें.

बैठक के बाद भारत के एंबेसडर सैयद अकबरुद्दीन ने भारत का पक्ष रखा. अकबरूद्दीन ने चीन और पाकिस्‍तान को खरी-खरी सुनाई. उन्होंने कहा कि कश्मीर पूरी तरह से भारत का अंदरूनी मसला है और भारत की संवैधानिक व्‍यवस्‍थाओं के तहत उठाया गया कदम है. उन्होंने कहा कि किसी दूसरे देश का इससे कोई लेना देना नहीं है.

अकबरुद्दीन ने कहा कि जम्मू-कश्मीर के सामाजिक और आर्थिक विकास को बढ़ावा देने के लिए यह फैसला लिया गया है. सरकार धीरे-धीरे कश्मीर से पाबंदियां हटा रही हैं. पाकिस्तान जिहाद की बात कर हिंसा फैला रहा है. बातचीत से पहले पाकिस्तान को आतंकवाद को रोकना होगा.

आजम खान को बड़ा झटका, योगी सरकार ने आलीशान रिजॉर्ट पर चलवाया बुलडोजर

महबूबा मुफ्ती की बेटी ने अमित शाह को लिखा पत्र, कहा- हमें जानवरों की तरह किया गया कैद

First published: 17 August 2019, 10:10 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी