Home » इंडिया » Ryan murder case: SC notice to Centre, HRD Ministry, Haryana govt in Ryan International School child murder in Gurgaon.
 

रायन मर्डर केस: सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र व हरियाणा सरकार से 3 महीने मे मांगी रिपोर्ट

कैच ब्यूरो | Updated on: 11 September 2017, 14:49 IST

सुप्रीम कोर्ट ने गुरुग्राम के रेयान इंटरनेशनल स्कूल के एक सात साल के प्रद्युम्न की हत्या मामले में सोमवार को सुनवाई की. कोर्ट ने केंद्र सरकार के साथ-साथ मानव संसाधव विकास मंत्रालय और हरियाणा सरकार को नोटिस जारी किया है. कोर्ट ने इनसे तीन हफ्ते के अंदर जवाब देने को कहा है.

 

प्रद्युम्न के पिता की याचिका पर सुनवाई करते हुए कोर्ट ने नोटिस जारी किया. इस फैसले के बाद पीड़‍ित के पिता वरुण ठाकुर ने कहा, ”सुप्रीम कोर्ट में पूरा विश्‍वास है और हरियाणा सरकार से सकरात्‍मक जवाब मिला है'. प्रद्युम्न के पिता ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल कर पूरे मामले की सुप्रीम कोर्ट की निगरानी में सीबीआई से जांच की मांग की है.

 

इस याचिका में मांग की गई है कि भविष्य में स्कूल के भीतर बच्चों के साथ किसी भी तरह की घटना होती है, तो मैनेजमेंट, डायरेक्टर, प्रिंसिपल, प्रमोटर सबके खिलाफ लापरवाही बरतने के आरोप के तहत कार्रवाई हो. साथ ही ऐसी किसी घटना होने पर स्कूल की मान्यता रद्द होनी चाहिए.

इससे पहले हरियाणा पुलिस ने दो और लोगों को गिरफ्तार किया है. रविवार रात को पुलिस ने स्कूल के दो वरिष्ठ अधिकारियों को गिरफ्तार किया है. पुलिस ने स्कूल के उत्तरी भारत प्रमुख फ्रांसिस थॉमस और कोऑर्डिनेटर और एचआर प्रमुख को रविवार रात किशोर न्याय अधिनियम (जेजेए) की धारा 75 के तहत गिरफ्तार कर लिया गया. जिन्हें सोमवार दोपहर सोहाना कोर्ट में पेश किया गया.

 

गौरतलब है कि आठ सितंबर को रायन इंटरनेशनल स्कूल के शौचालय में सात वर्षीय प्रद्युम्न का शव मिला था. उसका गला चाकू से रेता गया था और उसके शव के पास से एक चाकू मिला था. इसके बाद पुलिस ने स्कूल बस कंडक्टर अशोक कुमार को प्रद्युम्न की हत्या के आरोप में गिरफ्तार किया था, लेकिन बहुत से लोगों का मानना है कि उसे बलि का बकरा बनाया गया है. इस शख्स के परिवार वालों ने भी यह दावा किया कि वह गरीब है इसलिए उसे झूठे आरोप में फंसाया गया है. 

इससे पहले हत्या के विरोध में स्कूल के बाहर हो रहे प्रदर्शन को कवर कर रहे पत्रकारों पर लाठीचार्ज के मामले में सोमवार को एक पुलिस अधिकारी को निलंबित कर दिया गया. एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, “सोहना पुलिस थाना प्रभारी, इंस्पेक्टर अरुण कुमार को काम में चूक को लेकर तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है.”

गौरतलब है कि रविवार को स्कूल के बाहर विरोध प्रदर्शन कर रहे लोगों को खदेड़ने के लिए पुलिस ने लाठीचार्ज किया, जिसमें नौ पत्रकारों और फोटो पत्रकारों सहित करीब 50 लोग घायल हो गए. नाराज लोगों ने स्कूल से सटे शराब के ठेके को भी जला दिया.

First published: 11 September 2017, 14:49 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी