Home » इंडिया » Sabarimala Temple: 1 died in violence over women entry in ayappa temple
 

सबरीमाला मंदिर में 2 महिलाओं की एंट्री पर मचा बवाल, प्रदर्शन में 1 की मौत

कैच ब्यूरो | Updated on: 3 January 2019, 9:00 IST

केरल के सबरीमाला मंदिर में महिलाओं के प्रवेश को लेकर चल रहे विवाद के बाद आखिरकाल कल दो महिलाओं ने 40 सालों की परंपरा तोड़ कर भगवान अयप्पा के दर्शन किये. मंदिर में महिलाओं के प्रवेश को लेकर राज्य में काफी प्रदर्शन हुआ. इसी प्रदर्शन के दौरान 55 वर्षीय चन्दन उन्नीथन की घायल होने से मौत हो गयी.

मृतक चन्दन 'सबरीमाला कर्म समिति' का ही एक कार्यकर्ता बताया जा रहा है. जो कि महिलाओं के प्रवेश को लेकर विरोध प्रदर्शन में शामिल था. महिलाओं के प्रवेश को लेकर बुधवार को CPIM-BJP के कार्यकर्ताओं के बीच झड़प में चन्दन बुरी तरह से घायल हो गए. घायल अवस्था में उन्हें अस्पताल ले जाया गया जहां देर रात उनकी मौत हो गई.

महिलाओं के प्रवेश से नाराज राज्य के कई आज कई हिंदूवादी संगठनों ने आज राज्य बंद का आह्वान किया है. गौरतलब है कि महिलाओं के प्रवेश को लेकर देश की सर्वोच्च अदालत ने महिलाओं के प्रवेश पर रोक को हटाने का फैसला सुनाया था. लेकिन कई हिंदूवादी संगठन, मंदिर समिति और बीजेपी भी इसका विरोध कर रही है. इसी के चलते बुधवार को राज्य सचिवालय के बाहर करीब 5 घंटे तक संघर्ष चला, जिसमें माकपा-भाजपा के कार्यकर्ताओं के बीच पत्थरबाजी की घटना की भी ख़बरें आई हैं.

वहीं पुरानी परंपरा को तोड़ कर दो महिलाओं एक मंदिर में प्रवेश की बात को केरल के मुख्यमंत्री पिनरई विजयन ने पुष्टि की. इन महिलाओं ने सुबह-सुबह 3.30 बजे दर्शन किए, लेकिन जैसे ही ये खबर फैली तो हंगामा मच गया.

40 साल की परंपरा तोड़ 2 महिलाओं ने सबरीमाला मंदिर में किया प्रवेश

गौरतलब है कि सबरीमाला मंदिर में पिछले कई दशकों से चली आ रही महिला प्रवेश निषेध की परंपरा को सुप्रीम कोर्ट ने खारिज कर दिया था. सबरीमाला मंदिर में 10 साल से लेकर 50 साल तक की उम्र वाली महिलाओं के प्रवेश पर रोक थी. जिसके खिलाफ देश की सर्वोच्च अदालत ने 28 सितंबर को अपना फैसला सुनाया और हर उम्र की महिलाओं के लिए इस मंदिर के दरवाजे खुल गए. हालांकि सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद भी कई हिन्दू संगठन और मंदिर प्रशासन लगातार इसका विरोध करते आ रहे हैं.

 

First published: 3 January 2019, 9:00 IST
 
अगली कहानी