Home » इंडिया » Sabarimala temple: cabinet minister smriti irani says her side on sabarimala controversy
 

सबरीमाला पर स्मृति इरानी का बड़ा बयान, कहा - 'खून वाला पैड' लेकर भगवान के घर पर क्यों जाना चाहती

कैच ब्यूरो | Updated on: 23 October 2018, 17:01 IST

केरल के सबरीमाला मंदिर में महिलाओं के प्रवेश पर बबाल थमने का नाम नहीं ले रहा है. शीर्ष अदालत के आदेश के वावजूद महिलाओं को अंदर जाने नहीं दिया गया. अब केंद्रीय मंत्री स्मृति इरानी ने भी इस मामले पर बयान दिया है. इरानी ने कहा कि महिलाओं को मंदिर में पूजा करने का अधिकार है लेकिन उसे अपवित्र करने का हक नहीं है.

गौरतलब है कि सुप्रीम कोर्ट ने रजस्वला आयु वर्ग (10 से 50) यानि पीरियड आने वाली महिलाओं को भी मंदिर में प्रवेश की इजाजत दी थी. आदेश के बावजूद इस बार इस आयु वर्ग की महिला को प्रवेश नहीं मिल सका और इसका भारी विरोध किया गया. 

सबरीमाला मंदिर के पट सोमवार को मासिक पूजा के बाद बंद कर दिए गए. स्मृति इरानी ने एक कार्यक्रम के दौरान कहा, ''मुझे पूजा करने का अधिकार है लेकिन मंदिर को अपवित्र करने का नहीं, मैं मौजूदा केंद्रीय मंत्री हूं इसलिए सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर कोई टिप्पणी नहीं कर सकती हूं लेकिन क्या आप पीरियड के दौरान खून से सने सैनिटरी नैपकिन को लेकर अपने दोस्त के घर जाएंगी? तो आप भगवान के घर पर उसे लेकर क्यों जाना चाहती हैं.'' हालांकि केंद्रीय मंत्री ने ये भी कहा कि यह उनकी व्यक्तिगत और निजी राय है.

First published: 23 October 2018, 17:01 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी