Home » इंडिया » Sabarimala Temple Issue: women could not enter the temple, violence and protest continues
 

सबरीमाला विवाद: हेलमेट पहना कर महिलाओं को मंदिर ले जा रही थी पुलिस, हिंसा के चलते वापस लौटीं

कैच ब्यूरो | Updated on: 19 October 2018, 12:06 IST

सबरीमाला मंदिर में महिलाओं के प्रवेश पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले के खिलाफ कई हिंदू संगठन प्रदर्शन करने में लगे हुए हैं. लगातार तीन दिनों से चल रहे इस प्रदर्शन के बाद पूर्ण स्थिति है. पिछले तीन दिनों से सुप्रीम कोर्ट के फैसले के खिलाफ सबरीमाला मंदिर और बाकी हिंदू संगठन विरोध में लगे हैं.

आज भी मंदिर के बाहर हंगामा और नारेबाजी जारी रही. इस बीच भारी सुरक्षा के साथ पुलिस ने हेकलमेट पहना कर दो महिलाओं को मंदिर तक ले गई. मंदिर में प्रवेश से रोकने के लिए पहले से ही मंदिर के बाहर मौजूद प्रदर्शनकारियों ने नारेबाजी तेज कर दी. महिलाओं के मंदिर के बाहर पहुंचते ही विरोध कर रहे लोगों ने हंगामा शुरू कर दिया. भारी विरोध के चलते दोनों महिलाओं को आधे रास्ते से वापस लौटा दिया गया. मंदिर में प्रवेश एक लिए जाने वाली इन दो महिलाओं में से एक पत्रकार और सामाजिक कार्यकर्ता थीं.

सुरक्षा के लिहाज से पुलिस इन महिलाओं को हेलमेट पहना कर मंदिर परिसर रही थी. इस बीच हंगामे के चलते पुलिस ने कई प्रदर्शनकारियों को हिरासत में भी लिया गया. प्रदर्शन के दौरान प्रदर्शनकारियों और पुलिस में बहस हो गई. आईजी श्रीजीत ने प्रदर्शनकारियों से कहा, ''हमें कानून व्यवस्था को ठीक रखना है, मैं भी अयप्पा का भक्त हूं. लेकिन हमें कानून को लागू करना है.''


सुप्रीम कोर्ट के फैसले के खुलाफ पुनर्विचार याचिका दायर कर सकता है बोर्ड

विरोध कर रहे त्रावणकोर देवासम बोर्ड (टीडीबी) के अध्यक्ष ए. पद्मकुमार ने मीडिया से कहा कि इस मामले का हल निकालने के लिए वो किसी भी हद तक जाने के लिए तैयार हैं.

पद्मकुमार ने आगे कहा, "हम एक बैठक करने जा रहे हैं और हम यह पूछना चाहते हैं कि अगर हम सर्वोच्च न्यायायल में इस मामले में पुनर्विचार याचिका डालेंगे तो क्या प्रदर्शनकारी पीछे हट जाएंगे?" गौरतलब है कि सर्वोच्च न्यायालय के 28 सितंबर के फैसले के बाद सबरीमाला मंदिर पहली बार बुधवार को खोला गया. परंपरा के अनुसार, मंदिर को मलयालम माह की शुरुआत में पांच दिनों तक खोला जाता है. मंदिर अब 22 अक्टूबर तक खुला रहेगा.

First published: 19 October 2018, 12:06 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी