Home » इंडिया » Sahara chief Subrata Roy mother died, gets 4 weeks parole
 

सुब्रत रॉय को चार हफ्ते की पैरोल, मां के अंतिम संस्कार में होंगे शामिल

कैच ब्यूरो | Updated on: 6 May 2016, 17:21 IST

वित्तीय अनियमितताओं के आरोप में दिल्ली की तिहाड़ जेल में बंद सहारा इंडिया परिवार के मुखिया सुब्रत रॉय की मां छवि रॉय का गुरुवार देर रात लखनऊ में निधन हो गया. अंतिम संस्कार में शामिल होने के लिए सुब्रत रॉय को पैरोल मिल गई है.

95 साल की छवि रॉय लंबे अरसे से बीमार थीं. लखनऊ स्थित सहारा सिटी के एक अस्थाई अस्पताल में उनका इलाज चल रहा था. दिवंगत छवि रॉय का जन्म बिहार के अररिया जिले में हुआ था.

4 हफ्तों की मिली पैरोल

मां छबि रॉय के अंतिम संस्कार में शामिल होने के लिए सुब्रत रॉय सहारा ने सुप्रीम कोर्ट से पैरोल की मांग की थी. जिसके बाद अदालत ने अंतिम संस्कार में शामिल होने के ‌लिए सुब्रत रॉय को चार हफ्तों की पैरोल दी है.

कोर्ट ने कहा कि इस दौरान वो देश छोड़ कर नहीं जाएंगे और पुलिस की निगरानी में रहेंगे. सुब्रत रॉय को यह पैरोल मुख्य न्यायाधीश टीएस ठाकुर की अध्यक्षता वाली बेंच ने दी. 

पैरोल की मांग सुब्रत की ओर से वरिष्ठ वकील कपिल सिब्बल ने की थी. पैरोल के चार हफ्तों के दौरान सादी वर्दी में पुलिस उनकी निगरानी करेगी.

कोर्ट की स्पेशल बेंच ने सुनवाई करते हुए सुब्रत राय के साथ उनके बहनोई अशोक रॉय चौधरी को भी कस्टडी पैरोल दी है.

दो साल से तिहाड़ जेल में बंद

निवेशकों के 24 हजार करोड़ रुपये न लौटाने के आरोप में सहारा इंडिया परिवार के मुखिया सुब्रत रॉय पिछले दो साल से तिहाड़ जेल में बंद है.

मां के निधन के बाद सुब्रत रॉय ने सुप्रीम कोर्ट से लखनऊ जाने के लिए पैरोल मांगी थी. इस पर सुनवाई करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने सुब्रत रॉय को चार हफ्ते के लिए रिहा करने का आदेश दिया है. पैरोल पर बाहर रहने के दौरान सादे कपड़े में पुलिस वाले रॉय की निगरानी करेंगे.

इससे पहले भी सुब्रत रॉय ने सुप्रीम कोर्ट में कई बार मां की खराब तबीयत का हवाला देते हुए जमानत की गुहार लगाई थी. सुब्रत रॉय 4 मार्च 2014 से जेल में बंद हैं. 

सहारा समूह पर निवेशकों के 24 हजार करोड़ रुपये न लौटाने का आरोप है. इससे पहले सुब्रत रॉय के वकीलों ने गर्मी न सह पाने के कारण उन्हें जमानत देने की अपील की थी.

First published: 6 May 2016, 17:21 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी