Home » इंडिया » Sai Baba's Birthplace controversy Shirdi to Remain Shut for Indefinite Period from Sunday
 

अनिश्चितकाल तक बंद हो सकता है शिरडी शहर, साईं बाबा के भक्तों को लग सकता है झटका

कैच ब्यूरो | Updated on: 18 January 2020, 10:11 IST

Shirdi Sai Baba : अगर आप साईं बाबा (Sai Baba) के दर्शन के लिए शिरडी (Shirdi) जाने का प्लान बना रहे हैं तो आपके लिए बुरी खबर है. क्योंकि रविवार से शिरडी शहर अनिश्चितकाल के लिए बंद हो सकता है. इसलिए आपको परेशानी का सामना करना पड़ सकता है. शिरडी का साईं मंदिर हिंदू और मुसलमानों दोनों की आस्था का प्रतीक है.

यहां हर साल लाखों की तादात में साईं बाबा के भक्त दर्शनों के लिए पहुंचते हैं. लेकिन अब इस शहर के अनिश्चितकाल के लिए बंद होने का खतरा मंडरा रहा है. जिसके चलते शिरडी में साईं बाबा के दर्शन के लिए जाने वाले भक्तों को अपने बाबा के दर्शन तो मिलेंगे लेकिन, शिरडी शहर में न पानी मिलेगा, न खाना और न ही रहने की कोई सुविधा.


बता दें कि इसके पीछे महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे का एक बयान है. इस बयान में उन्होंने कहा था, "परभणी जिले के नजदीक पाथरी गांव में साईं बाबा के जन्म स्थान पर 100 करोड़ के विकास काम करवाएंगे. पाथरी गांव में इस प्रोजेक्ट पर काम किया जाएगा." सीएम ठाकरे के इस ऐलान के बाद शिरडी के लोग नाराज हैं.

शिरडी के लोगों का कहना है कि सरकार ये साफ करे कि पाथरी में विकास का काम इसलिए नहीं होगा कि, वहां साईं का जन्म हुआ है. साईं बाबा के जन्म स्थान पर हुए विवाद को लेकर एक न्यूज चैनल ने शिवसेना के मंत्री अब्दुल सत्तार से बात की. जिसमें उन्होंने सीएम के उस बयान के बारे में सफाई दी.

अब्दुल सत्तार ने कहा कि, "साईं बाबा के जन्म स्थान पाथरी को सरकार की तरफ से जो फंड देने की बात हुई है उसपर बाकयदा मीटिंग हुई है. उस मीटिंग में मैं भी मौजूद था." उन्होंने कहा कि, "मुख्यमंत्री को कागजातों के साथ बताया गया है कि साईं बाबा का असली जन्म स्थान परबनी के पाथरी गांव में ही हुआ था. इसी के आधार पर उस गांव के विकास के लिये सरकार की तरफ से सहायता की जा रही है."

उन्होंने कहा कि ये विवाद पुराना है और पाथरी के विकास से शिरणी के साईं बाबा के मंदिर पर कोई असर नहीं पड़ने वाला. उन्होंने मंदिर को बंद रखने के बारे में कहा कि ये शिरणी के लोगों का सही निर्णय नही है. वहीं शिरडी के लोगों का कहना है कि साईं बाबा का जन्म पाथरी में नहीं बल्कि शिरडी में हुआ है.

इतिहासकार रामचंद्र गुहा का राहुल गांधी पर तंज, कहा- केरल ने उन्हें जिताकर उठाया विनाशकारी कदम

PM मोदी और अमित शाह के बीच मनमुटाव के कारण पिस रहा देश- भूपेश बघेल

इस कपल ने छपवाया शादी का कार्ड, लिखवाया- वी सपोर्ट CAA एंड NRC

First published: 18 January 2020, 10:11 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी