Home » इंडिया » Salman Khan lost his muslim identity as he does ganesh pooja, Deoband Ulema new decree for muslim women who prays Sri Ram
 

अगर सलमान-शाहरुख गणपति पूजा करते हैं तो वो भी इस्लाम से खारिज

पत्रिका ब्यूरो | Updated on: 21 October 2017, 18:27 IST

वाराणसी में मुसलमान महिलाओं द्वारा भगवान श्रीराम की पूजा करने करने की तस्वीर सोशल मीडिया पर पोस्ट करने पर उनके खिलाफ फतवा जारी कर उन्हें इस्लाम से खारिज कर दिया गया है. इसके बाद अब गणेश पूजा करने वाले सलमान खान के लिए भी उलेमा ने कहा कि वो खुद को मुसलमान कहने का हक खो चुके हैं.

देवबंद के उलेमा का कहना है कि इस्लाम में साफ कहा गया है कि यदि कोई मुस्लिम पुरुष या मर्द अल्लाह के अलावा किसी अन्य की पूजा या आरती करता है तो वह इस्लाम से खारिज हो जाता है.

दारूलउलूम जकरिया मदरसे के मोहतमिम मौलाना मुफ्ती शरीफ खान ने कहा अल्लाह के अलावा किसी और की पूजा करना इस्लाम के खिलाफ है. जिन मुस्लिम महिलाओं ने वाराणसी, लखनऊ या फिर दुनिया के किसी भी कोने में श्रीराम की आरती की है, उन्हें मुस्लिम कहना अब शरियत एतबार से सही नहीं है.

शरीफ खान का कहना है, इस्लाम में शरियत पूरी दुनिया के लिए एक ही है. शरियत के अनुसार मुसलमान को सिर्फ अल्लाह की पूजा करनी चाहिए. इस्लाम में सिर्फ अल्लाह की इबादत करने की इजाजत है.

अगर कोई अल्लाह को छोड़कर किसी और तरीके से किसी अन्य देवी-देवताओं की पूजा-अर्चना करता है तो वह इस्लाम से खारिज हो जाएगा. वो मुसलमान ही नहीं रहेगा, क्योंकि उसने इस्लाम के कानून के खिलाफ काम किया है.

वहीं, जब उनसे पूछा गया कि फिल्मों में मुस्लिम अभिनेता या अभिनेत्री भगवान की आरती, पूजा और उपासना करते हैं तो उनके बारे में आप क्या कहेंगे?

जवाब में मुफ्ती शरीफ ने कहा, फिल्मों में काम करना हकीकत नहीं है. लोगों को खुश और डायरेक्टर के कहने पर एक्टर ऐसा करते हैं.

वहीं, सलमान, आमिर, शाहरुख द्वारा गणपति पूजा करने पर मुफ्ती शरीफ ने कहा, अगर यह सभी अल्लाह को छोड़कर गणपति की पूजा करते हैं तो इनके लिए भी वही बात लागू होती है. 

बता दें, इससे पहले सोशल साइट्स पर फोटो पोस्ट करने और मुस्लिम महिलाओं के बाल कटवाने को भी उलेमा ने इस्लाम के खिलाफ बताया था.

First published: 21 October 2017, 18:27 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी