Home » इंडिया » salman khurshid criticize modi government over china policy
 

सलमान खुर्शीद: मोदी सरकार भाषण देने के बजाए चीन की मानसिकता समझे

कैच ब्यूरो | Updated on: 23 April 2016, 16:18 IST

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व विदेश मंत्री सलमान खुर्शीद ने संयुक्त राष्ट्र में जैश-ए-मोहम्मद के प्रमुख मसूद अजहर पर प्रतिबंध लगाने को लेकर केंद्र सरकार की कोशिशों पर सवाल उठाए हैं.

चीन के गुप्त वीटो की वजह से मसूद अजहर पर प्रतिबंध का मामला अटक गया था. खुर्शीद ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और एनडीए सरकार के रवैए की आलोचना की है. 

पढ़ें:मसूद अजहर आतंकवादी नहीं: चीन

खुर्शीद ने कहा, "वर्तमान केंद्र सरकार को चीन की मानसिकता समझने की जरूरत है. सरकार के 'भाषणों' से इस मामले में कोई सफलता नहीं मिलेगी."

खुर्शीद ने आरोप लगाया है कि मोदी सरकार के द्वारा राजनयिकों की सेवाओं का पूरा इस्तेमाल नहीं किया जा रहा है. खुर्शीद ने कहा कि राजनयिक वो काम कर सकते हैं, जो राजनेता नहीं कर सकते.

'सोच बदलने की जरूरत'

पूर्व विदेश मंत्री ने कहा, "चीन की सरकार ने क्या किया है, इसको लेकर शिकायत करने का कोई बिंदु नहीं है. हमें चीन की मानसिकता समझनी होगी. अगर ऐसा हुआ होता तो हम उनसे किसी और चीज की उम्मीद कर सकते थे."

पढ़ें:मसूद अजहर पर चीन के वीटो केे बाद भारत ने जतायी निराशा

खुर्शीद ने बताया, "हमें अपनी मांगें पूरी कराने के लिए सोच बदलनी होगी. लेकिन हम इस तरह के परिवर्तन रातों-रात नहीं कर सकते. हमें इस पर लंबे समय तक काम करना होगा."

सलमान खुर्शीद ने अपने नाटक ‘संस ऑफ बाबर’ के अरबी अनुवाद के विमोचन के दौरान ये बातें कहीं. इस मौके पर कई अरब देशों के राजदूत भी मौजूद थे.

पढ़ें:चीन: भारत का उइगर कांग्रेस नेता डोलकन ईसा को वीजा देना गलत

First published: 23 April 2016, 16:18 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी