Home » इंडिया » SARVEY : IN AT THAT TIME ELECTION HAPPEN IN UP, BJP WILL GET THE MAJORITY
 

सर्वे: यूपी में अभी हुए चुनाव तो मोदी भारी पड़ेंगे मुलायम और मायावती पर

कैच ब्यूरो | Updated on: 13 October 2016, 13:09 IST
(कैच)

उत्तर प्रदेश की सियासत में इस बार बीजेपी का कमल खिलता दिख रहा है. इंडिया टुडे-एक्सिस माई इंडिया के ताज़ा सर्वे में बीजेपी को पहला, बीएसपी को दूसरा और समाजवादी पार्टी को तीसरा स्थान मिला है.

इस सर्वे के मुताबिक राहुल गांधी की किसान यात्रा के बावजूद कांग्रेस कुथ खास करती नहीं दिखाई दे रही है. इस बात की संभावना जताई जा रही है कि इस बार के यूपी विधानसभा चुनाव में बीजेपी सबसे बड़े दल के रूप में सामने आ सकती है.

सर्वे के अनुसार बीजेपी यूपी के सभी क्षेत्रों में अपेक्षाकृत बहुमत की ओर बढ़ रही है. उसे बसपा और सपा के मुकाबले ज्यादा वोटों का फायदा होता दिख रहा है.

सर्वे के अनुमान के मुताबिक बीजेपी को पूरे उत्तर प्रदेश में 31 फीसदी वोट और 170-183 सीट मिलती दिख रही हैं. यानी वो सबसे बड़ी पार्टी होने के बावजूद बहुमत से कुछ पीछे रह जाएगी. 

मायावती की बसपा दूसरे नंबर पर 28 फीसदी वोटों के साथ बनी हुई है. जबकि सूबे में इस समय की सत्तारूढ़ समाजवादी पार्टी को भारी हार का सामना करना पड़ेगा.

सर्वे में सपा को महज 25 फीसदी वोट मिल रहे हैं. इस लिहाज से अनुमानतः सपा 100 सीटों से भी कम पर सिमट जाएगी.

सर्वे के अनुसार बीजेपी को सबसे बड़ा फायदा उत्तर प्रदेश के पूर्वी हिस्से से मिलता दिख रहा है. पूर्वी उत्तर प्रदेश में उसे 33 फीसदी वोट मिलता दिख रहा है. इस क्षेत्र में विधानसभा की 167 सीटें हैं. 

इस क्षेत्र में दूसरे नंबर पर बसपा है जिसे 28 फीसदी सीट मिलने की बात कही जा रही है.

यहां यह भी ध्यान देना होगा कि सत्तारूढ़ समाजवादी पार्टी यहां तीसरे स्थान पर दिख रही है, जिसे महज 22 फीसदी वोट मिलता दिखाया गया है. 

यह आंकड़ा उसके लिए भारी नुकसान वाला है क्योंकि पिछले चुनाव में उसे इस क्षेत्र से भारी बढ़त मिली थी.

सपा ने इस बार मुख्तार अंसारी जैसे आपराधिक छवि के बाहुबली को भी मुस्लिम वोटों की लालच में साथ लिया और इसके कारण सपा में बड़ी दरार भी पड़ गई, इसके बावजूद उसे इस क्षेत्र में कोई फायदा होता नहीं दिख रहा है.

प्रदेश के पश्चिमी क्षेत्र में भी भाजपा को भारी बढ़त मिलने की उम्मीद है. यहां हुए सर्वे में उसे 31 फीसदी वोट मिलने की बात कही गई है. दूसरे नंबर पर सपा-बसपा संयुक्त रूप से बनी हुई है.

प्रदेश की 81 विधानसभा सीटों वाले मध्यक्षेत्र में समाजवादी पार्टी को मामूली बढ़त होती दिख रही है. उसे यहां सबसे ज्यादा यानी 29 फीसदी वोट मिलता दिख रहा है, जबकि दूसरे नंबर पर उसकी प्रतिद्वंद्वी बसपा है जिसे सपा से एक फीसद कम यानी 28 फीसदी वोट मिल रहा है.

यूपी के इसी पश्चिमी क्षेत्र में कैराना से हिंदुओं के पलायन का मुद्दा, मुजफ्फरनगर में सांप्रदायिक हिंसा और बुलंदशहर दुष्कर्म जैसे मामलों ने सपा को जनता से दूर कर दिया है.

19 विधानसभा सीटों वाले बुंदेलखंड क्षेत्र में बसपा को 34 फीसद वोट मिलने का अनुमान लगाया गया है. दूसरे नंबर पर भाजपा को 32 फीसदी और सपा को महज 16 फीसदी वोट मिलने का अनुमान लगाया गया है. 

बुंदेलखंड में सपा के कमजोर प्रदर्शन के पीछे सपा को सूखे के दिनों में सही काम न करना बताया जा रहा है.

First published: 13 October 2016, 13:09 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी