Home » इंडिया » SC asks Abhishek Shukla to produce seized memo to ascertain whether the seized amount as claimed.
 

श्रीसंत के दोस्त अभिषेक शुक्ला नोटबंदी में हुए नुकसान की भरपाई के लिए पहुंचे सुप्रीम कोर्ट

कैच ब्यूरो | Updated on: 28 April 2017, 16:39 IST

सुप्रीम कोर्ट में नोटबंदी का एक और दिलचस्प मामला पहुंचा है . क्रिकेटर श्रीसंत के दोस्त अभिषेक शुक्ला ने सुप्रीम कोर्ट में ये याचिका दाखिल की है.

याचिका में अभिषेक शुक्ला की तरफ से कहा गया है कि जब आईपीएल स्पॉट फिक्सिंग के मामले में दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने उन्हें 2013 में गिरफ्तार किया था. तब उस वक्त पुलिस ने उनके पास से 5.50 लाख रुपये जब्त किए और उन रुपयों को पुलिस ने अपने मालखाने में रखा था.

स्पॉट फिक्सिंग के मामले में पटियाला हाउस कोर्ट से दोषमुक्त होने के बाद अभिषेक शुक्ला ने जब्त किये गए रुपये वापस किये जाने की मांग की. उनकी मांग पर पुलिस ने फरवरी में जब्त किये हुए पुराने नोट मालखाने से वापस कर दिये.

जिसे बदलने के लिए जब अभिषेक रिजर्व बैंक के दफ्तर में गए तो वहां उनके नोट नहीं बदले गए. इस तरह उनके 5.50 लाख रुपये कागज के टुकड़े हो गये.

इस मामले की सुनवाई करते हुए चीफ जस्टिस जेएस खेहर ने पीड़ित अभिषेक शुक्ला के वकील से कहा कि वह इस मामले में पुलिस की सीजर मेमो लेकर कोर्ट आएं और साथ ही कोर्ट को यह भी बताएं कि जब्त किये गए नोट कितने-कितने मूल्य के थे?

गौरतलब है कि मुंबई से श्रीसंत को गिरफ्तार करने के बाद शुक्ला को 2013 में दिल्ली पुलिस ने गिरफ्तार किया था. पुलिस का आरोप था कि श्रीसंत की गिरफ्तारी के बाद शुक्ला मुंबई में उनके होटल के कमरे में गया और पैसा व सामान गायब कर दिया.

First published: 28 April 2017, 16:39 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी