Home » इंडिया » SC stops execution of action against 'The Wire' in criminal defamation case
 

SC ने 'द वायर' के खिलाफ मानहानि मामले में कार्रवाई पर लगाई रोक

कैच ब्यूरो | Updated on: 15 March 2018, 15:34 IST

सुप्रीम कोर्ट ने गुरुवार को बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह के बेटे जय शाह द्वारा न्यूज़ पोर्टल 'द वायर' पर दायर मानहानि के मामले में महत्वपूर्ण आदेश दिया है. सुप्रीम कोर्ट ने द वायर के पत्रकार के खिलाफ आपराधिक मानहानि मामले में 12 अप्रैल तक गुजरात मजिस्ट्रेट कोर्ट की कार्रवाई पर रोक लगा दी है. इस मामले में उच्च अदालत अगली सुनवाई 12 अप्रैल को करेगी.

इससे पहले गुजरात हाईकोर्ट ने द वायर की पत्रकार रोहिणी सिंह की याचिका को खारिज कर दिया था, जिसमें उन्होंने जय शाह द्वारा दाखिल आपराधिक मानहानि केस को रद्द करने की मांग की थी. इसके बाद रोहिणी सिंह ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की थी.

याचिका पर सुनवाई के दौरान चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा ने कहा कि ''हम प्रेस की आजादी का सम्मान करते हैं पर उसे भी जिम्मेदारी से काम करना चाहिए. इलेक्ट्रॉनिक मीडिया ये नहीं सोच सकता कि वो रातों रात पोप बन सकता है''.

चीफ जस्टिस ने कहा क्या कुछ लोग तख्त पर बैठकर कुछ भी लिख सकते हैं? क्या ये पत्रकारिता है? उन्‍होंने कहा कि हालांकि मैं हमेशा प्रेस की आजादी का पक्षधर हूं लेकिन कैसे कोई किसी के बारे में कुछ भी बोलना शुरू कर देता है. इसकी कोई सीमा होती है. हालांकि चीफ जस्टिस ऑफ़ इंडिया ने यह भी कहा की हालांकि वह इस केस की नहीं सामान्य बात कर रहे हैं. 

बिजनेसमैन जय शाह ने अक्टूबर 2017 में द वायर के खिलाफ आपराधिक मानहानि का मामला दायर किया था. मीडिया रिपोर्ट के अनुसार वेबसाइट के वकील कपिल सिब्बल ने अदालत से कहा कि वायर की स्टोरी केवल सवाल पूछ रही है. अगर पत्रकारिता के साथ ऐसा होता रहा तो कोई भी पत्रकार सवाल नहीं पूछ सकता है.

First published: 15 March 2018, 15:31 IST
 
अगली कहानी