Home » इंडिया » SC sent notice to Prashant Bhushan on contempt plea by Modi government
 

बुरे फंसे प्रशांत भूषण, सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र की अवमानना याचिका पर नोटिस भेज मांगा जवाब

कैच ब्यूरो | Updated on: 6 February 2019, 14:09 IST

सुप्रीम कोर्ट के सीनियर वकील प्रशांत भूषण के लिए बुरी खबर है. सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र सरकार की अवमानना याचिका पर प्रशांत भूषण को नोटिस भेज तीन हफ्ते में जवाब मांगा है. दरअसल, प्रशांत भूषण ने एक ट्वीट कर सुप्रीम कोर्ट के फैसले की कथित तौर पर आलोचना की थी. इसके बाद केंद्र में अटॉर्नी जनरल के. के. वेणुगोपाल और मोदी सरकार की ओर से अवमानना याचिका दायर की गई थी.

इसी अवमानना याचिका पर सुनवाई करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने प्रशांत भूषण को नोटिस भेजा है. जस्टिस अरुण मिश्रा और जस्टिस नवीन सिन्हा की बेंच ने मामले की सुनवाई करते हुए कहा कि वह इस सवाल पर विचार करेगी कि कोई वकील या दूसरा व्यक्ति विचाराधीन मामलों को लेकर क्या अदालत की आलोचना करने के लिए स्वतंत्र है. जिससे जनमत प्रभावित हो सकता है.

बेंच ने भूषण को जवाब देने के लिए तीन हफ्ते का समय दिया है. बेंच ने कहा, "मामले पर विस्तृत सुनवाई करने की जरुरत है, इसलिए नोटिस जारी किया जाता है." बेंच ने मामले की अगली सुनवाई सात मार्च को रखी है. बेंच ने यह भी कहा कि कोर्ट की आलोचना न्यायिक प्रक्रिया में हस्तक्षेप भी हो सकता है. 

First published: 6 February 2019, 14:09 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी