Home » इंडिया » SC ST act review petition: rahul gandhi tweeted in support of dalit organisations and bharat bnd
 

SC/ST एक्ट पर बोले राहुल: RSS-BJP के DNA में है दलितों का दमन, भारत बंद को किया सलाम

कैच ब्यूरो | Updated on: 2 April 2018, 12:27 IST

देश भर में आज SC-ST एक्ट को लेकर दलित संगठनों ने भारत बंद का ऐलान किया है. एससी- एसटी एक्ट में दर्ज मामलों में तत्काल गिरफ्तारी पर रोक के सुप्रीम कोर्ट के फैसले का देश भर में दलित संगठन विरोध कर रहे हैं. भारत बंद पर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने दलितों के पक्ष में ट्वीट कर केंद्र सरकार पर निशाना साधा.

राहुल ने ट्वीट किया कि दलितों को भारतीय समाज के सबसे निचले पायदान पर रखना RSS-BJP के DNA में है, जो इस सोच को चुनौती देता है उसे वे हिंसा से दबाते हैं. राहुल ने कहा कि हजारों दलित भाई-बहन आज सड़कों पर उतरकर मोदी सरकार से अपने अधिकारों की रक्षा की मांग कर रहे हैं, हम उनको सलाम करते हैं.

 

इस देशव्यापी बंद में कई शहरों से हिंसक झड़पों की खबरें भी आ रही हैं. दलित संगठनों के इस आंदोलन को अब राजनीतिक दलों का समर्थन भी मिल रहा है. कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने प्रदर्शन कर रहे दलितों को सलाम किया है.

इस मसले पर राहुल गांधी पहले ही विरोध जता चुके हैं. आज दलित आंदोलनों के समर्थन में अपने ट्वीट में उन्होंने लिखा, 'दलितों को भारतीय समाज के सबसे निचले पायदान पर रखना आरएसएस और बीजेपी के डीएनए में है. जो इस सोच को चुनौती देता है उसे वे हिंसा से दबाते हैं. हजारों दलित भाई-बहन आज सड़कों पर उतरकर मोदी सरकार से अपने अधिकारों की रक्षा की मांग कर रहे हैं. हम उनको सलाम करते हैं.'

ये भी पढ़ें- पीएम मोदी के नारे के विरोध में मोहन भागवत, बोले- हमारी ऐसी विचारधारा नहीं

क्या है मामला
सुप्रीम कोर्ट ने 20 मार्च को महाराष्ट्र के एक मामले को लेकर एससी एसटी एक्ट में नई गाइडलाइन जारी की थी. जिसके अनुसार अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति अधिनियम-1989 के दुरुपयोग पर बंदिश लगाने के लिए सुप्रीम कोर्ट ने फैसला सुनाया था. इस फैसले में कहागया था कि एससी एसटी एक्ट के तहत एफआईआर दर्ज होने के बाद आरोपी की तत्काल गिरफ्तारी नहीं होगी.

First published: 2 April 2018, 12:27 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी