Home » इंडिया » SC Verdict on Sabarimala temple: Hindu organisation protest against women entry CM called off a meeting
 

सबरीमाला मंदिर: महिलाओं की एंट्री पर SC के फैसले के खिलाफ कई दल, CM को बुलानी पड़ी बैठक

कैच ब्यूरो | Updated on: 7 October 2018, 15:01 IST

सबरीमाला मंदिर में महिलाओं के प्रवेश निषेध को रद्द करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने महिलाओं की एंट्री को हरी झंडी दिखा दी. सबरीमाला मंदिर में 10 साल से लेकर 50 साल तक की उम्र वाली महिलाओं के प्रवेश पर रोक थी. जिसके खिलाफ देश की सर्वोच्च अदालत ने 28 सितंबर को अपना फैसला सुनाया और हर उम्र की महिलाओं के लिए इस मंदिर के दरवाजे खुल गए.

सुप्रीम कोर्ट का ये फैसला अब कई दलों की खिलाफत झेल रहा है. इसी के साथ सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले पर सियासी दांव-पेंच भी शुरू हो गया है. सीपीआई-एम, बीजेपी राज्य इकाई के साथ-साथ पांडलम रॉयल फैमिली समेत कई पार्टियों ने सुप्रीम कोर्ट के फैसले के खिलाफ निराशा जाहिर की है.

केरल सरकार इस मामले में मुखर हो रहे विरोध का मामला निपटने के लिए एक बैठक बुलाने का फैसला किया है. केरल के मुख्यमंत्री पिनारई विजयन और देवोसोम मंत्री के. सुरेंद्रन केरल सरकार की तरफ से बैठक में भाग लेंगे. बैठक में मंदिर का पुजारी परिवार, पांडलम पैलेस और देवोसोम बोर्ड के प्रतिनिधि भी हिस्सा लेंगे.

केरल सरकार के मुताबिक यह बैठक सभी पक्षों के साथ बातचीत कर बीच का रास्ता तलाशने की एक कोशिश है. बीजेपी, कांग्रेस और कई दक्षिणपंथी संगठन सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद केरल सरकार की कड़ी आलोचना कर रहे हैं.
गौरतलब है कि हाल ही में केरल के कई शहरों में हिन्दू संगठन सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले के खिलाफ सडकों पर उतर आए. ये विरोध प्रदर्शन त्रावणकोर देवासम बोर्ड (टीडीबी) के पूर्व अध्यक्ष और पूर्व कांग्रेस विधायक प्रयर गोपालाकृष्णन के नेतृत्व में किया गया. उन्होने इस प्रदर्शन को लेकर कहा कि चाहे कुछ भी हो जाए वो इस फैसले का विरोध करते रहेंगे.

इस विरोध प्रदर्शन में सबरीमाला मंदिर तांत्रिक परिवार के सदस्य राहुल ईश्वर और सैकड़ों प्रदर्शनकारियों के रैलियां निकाली जिससे कि यातायात भी बाधित हुआ. गौरतलब है कि सबरीमाला मंदिर का प्रबंधन टीडीबी करता है.

Video: जय बजरंगबली के नारे के साथ गांव वाले बन गए क्रेन, कंधों पर उठाया क्रैश हुए विमान का कई टन भारी मलबा

First published: 7 October 2018, 15:06 IST
 
अगली कहानी