Home » इंडिया » Scared Of Nipah Virus in Kerala Crematoria Staff Refuse to Dispose Dead Bodies
 

Nipah के खौफ में केरल, शवदाह गृह के कर्मचारी नहीं कर रहे वायरस से मरने वाले का अंतिम संस्कार

कैच ब्यूरो | Updated on: 23 May 2018, 15:47 IST
(File Photo)

केरल के कोझिकोड और मलाप्पुरम में निपाह वायरस ने कहर बरपा दिया है. निपाह वायरस के चलते अब तक 10 लोगों की मौत सामने आ रही है. इसी बीच खबर आ रही है कि निपाह वायरस के खौफ से एक शवदाह गृह के कर्मचारियों ने शव का अंतिम संस्कार करने से इंकार कर दिया.

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक कोझिकोड जिले के शवदाह गृह के कर्मचारियों ने निपाह वायरस के संक्रमण बचने के लिए ऐसा किय है. रिपोर्ट में सामने आया है कि 52 साल के अशोकन की मंगलवार को निपाह वायरस के संक्रमण के चलते मौत हो गई थी.

इसीलिए शवदाह ग़ृह के कर्मचारियों ने शव का अंतिम संस्कार करने से इंकार कर दिया. उसके बाद अशोकन के शव तक अंतिम संस्कार तब हो सका जब पालक्कड से स्वयंसेवकों की एक टीम अंतिम संस्कार के लिए शहर में पहुंची.

बता दें कि अशोकन के शव को सबसे पहले अंतिम संस्कार के लिए उनके रिश्तेदार सबसे पहले मावोर रोड स्थित विद्युत शवदाह गृह पर ले गए, लेकिन यहां पर उनका अंतिम संस्कार मशीन में खराबी होने की वजह से नहीं हो सका. इसके बाद अशोकन के रिश्तेदार उनका शव पास में स्थित परंपरागत श्मशान गृह लेकर पहुंचे, लेकिन यहां कर्मचारियों ने निपाह वायरस फैलने के खतरे से अंतिम संस्कार करने से इनकार कर दिया.

इस मामले के मीडिया में आने के बाद जिला प्रशासन ने कहा है कि ऐसे लोगों पर नजर रख रहे हैं जो संकट की इस घड़ी में साथ नहीं दे रहे. कोझिकोड के जिलाधिकारी यूवी जोशी के मुताबिक कुछ मामले जानकारी में आए हैं. उन्होंने ऐसे लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने की बात कही है.

स्वास्थ्य विभाग के सूत्रों के मुताबिक बताया जा रहा है कि मूसा नाम के शख्स की हालत बेहद गंभीर है. उसे वेंटिलेटर पर रखा गया है. वहीं एक अन्य शख्स का निपाह वायरस से संक्रमित होने पर इलाज चल रहा है. बताया जा रहा है कि मूसा के दो बेटों की पहले मौत हो चुकी है. परिवार की एक अन्य महिला की भी वायरस के कारण मौत हो चुकी है.

सूत्रों के मुताबिक संक्रमित लोगों के संपर्क में आए करीब 116 लोगों को अलग-अलग रखा गया है. इनमें से 94 लोगों को उनके घरों में तथा 22 को अलग-अलग अस्पतालों में रखा गया है.

वहीं मल्लापुरम के एक 21 वर्षीय छात्र को तिरुवनंतपुरम मेडिकल कॉलेज अस्पताल में भर्ती कराया गया है. वह हाल ही में कोझिकोड में अपने गृहनगर गया था. वायनाड़ में एक व्यक्ति का इलाज चल रहा है. वहीं केरल की स्वास्थ्य मंत्री केके शैलजा ने बताया कि निपाह वायरस के कारण 10 लोगों की मौत हो चुकी है.

ये भी पढ़ें- पंजाब: चपरासी के 6 पदों के लिए आए 9 हजार आवेदन, एमए से लेकर एमएड पास हैं उम्मीदवार

 

First published: 23 May 2018, 15:47 IST
 
अगली कहानी