Home » इंडिया » School rusticated a 5th class student because his father is a tea vendor
 

यूपी: चाय बेचने वाले के बेटे को स्कूल से निकाला

कैच ब्यूरो | Updated on: 10 February 2017, 1:50 IST

उत्तर प्रदेश के बागपत में एक बच्चे को उसके पिता के चाय बेचने की वजह से स्कूल से निकाले जाने का मामला सामने आया है.

बागपत जिले में एक बच्चे के पिता का आरोप है कि उसके बेटे को स्कूल ने केवल इसलिए टीसी थमा दी कि उसके पिता चाय बेचते हैं. स्कूल से निकाले जाने के बाद से बच्चा दुकान पर पिता का हाथ बंटा रहा है.

छात्र के पिता ने जिला विद्यालय निरीक्षक आशुतोष भरद्वाज से स्कूल प्रबधंन के खिलाफ शिकायत करके कारवाई की गुहार लगाई है.

एडमिशन कराने का आदेश


मामला बागपत जिले के बड़ौत कोतवाली क्षेत्र स्थित लार्ड महावीर स्कूल का है. जहां पांचवीं के छात्र का नाम स्कूल से इसलिए काट दिया गया क्योंकि उसके पिता चाय बेचते हैं.

स्कूल प्रबंधन ने छात्र को छठी क्लास में प्रवेश देने के बजाय उसकी टीसी काटकर उसे स्कूल से बाहर निकाल दिया. 

पढ़ें:नोएडा: स्कूल बसों की चपेट में ऑटो, दो की मौत

घटना का संज्ञान लेते हुए डीएम ने डीआईओएस बागपत को इस मामले की जांच करने के निर्देश दिए हैं. इस बीच डीआईओएस कार्यालय में स्कूल और अभिभावक ने लिखित में अपना-अपना पक्ष रखा है.

छात्र के पिता ने स्कूल प्रबंधन और प्रधानाचार्य के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराने की मांग की है. वहीं बागपत के जिलाधिकारी एचएस तिवारी ने जिला विद्यालय निरीक्षक को तत्काल छात्र का छठी कक्षा में एडमिशन कराने का आदेश दिया है.

छात्र के दो साल बर्बाद


पीड़ित छात्र के पिता ने बताया है कि वो ज्यादा पढ़े-लिखे नहीं हैं और चाय बेचकर अपना घर चलाते हैं. वे अपने बेटे को पढ़ा-लिखाकर डॉक्टर बनाना चाहते हैं.

पीड़ित के पिता ने आरोप लगाया है कि स्कूल प्रबंधन का कहना है कि तुम्हारा परिवार पढ़ा लिखा नही है, जिस कारण कक्षा पांच में तुम्हारे बच्चे के 50 प्रतिशत ही अंक आए हैं.

स्कूल प्रशासन ने बच्चे को किसी दूसरे स्कूल में दाखिला लेने के लिए कहा. बच्चे के पिता का कहना है कि मेरे बेटे का दो साल बर्बाद हो गया. मैंने काफी मिन्नतें की, लेकिन स्कूल प्रबंधन नहीं माना.

पढ़ें:सूखा पीड़ितों पर स्कूली बच्चों का मरहम

जिला विद्यालय निरीक्षक का कहना है कि शिकायत पर मामले की जांच करायी जा रही है. दोषी पाए जाने पर स्कूल के खिलाफ सख्त कार्रवाई होगी.

First published: 7 May 2016, 4:56 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी