Home » इंडिया » Search operation underway of Air Force missing AN-32 transport aircraft army deployed
 

वायुसेना के लापता AN-32 विमान की बड़े स्तर पर हो रही है खोज, सेना ने संभाला मोर्चा

कैच ब्यूरो | Updated on: 4 June 2019, 8:25 IST

सोमवार दोपहर से लापता हुए भारतीय वाय सेना के विमान एएन-32 की बड़े स्तर पर खोज की जा रही है. सर्च अभियान में वायुसेना के साथ थल सेना को भी लगाया गया हैजो बड़े स्तर पर खोजी अभियान चला रही हैं. भारतीय वायुसेना का ये रूस निर्मित AN-32 परिवहन विमान ने सोमवार को असम के जोरहाट से दोपहर 12.27 मिनट पर उड़ान भरी थीइस विमान को अरुणाचल प्रदेश के शि-योमी जिले के मेनचुका एडवांस्ड लैंडिंग ग्राउंड पर उतरना थालेकिन उड़ान भरने के करीब 33 मिनट बाद ही विमान का संपर्क टूट गया और यह लापता हो गया. उसके बाद से विमान का कोई पता नहीं चला है.

वायुसेना ने सोमवार को अपने एक बयान में बताया था कि," दुर्घटना स्थल के संभावित स्थान को लेकर कुछ सूचनाएं मिली हैं. हेलिकॉप्टरों को उस जगह पर भेजा गया था. हालांकि, अभी तक कोई भी मलबा नहीं देखा गया है."

वायुसेना के इस विमान में चालक दल के आठ सदस्यों के साथ कुल 13 लोग सवार थे. वो सभी वायुसेना से जुड़े हुए थे. वायुसेना के इस लापता विमान की खोज के लिए वायुसेना और आर्मी को लगाया गया है. साथ ही विभिन्न सरकारी एजेंसियों की मदद भी ली जा रही है. विमान की खोज में वायुसेना ने दो Mi-17 हेलिकॉप्टर के अलावा C-130 J और AN-32 विमान को लगाया गया है. जबकि थल सेना ने अत्याधुनिक हल्के हेलिकॉप्टर को खोजी अभियान में लगाया है.

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा है कि, उन्होंने इस बारे में वायुसेना के उपप्रमुख से बात की है और वे इन यात्रियों के सुरक्षित रहने की कामना करते हैं. सिंह ने एक ट्वीट में कहा, ‘‘कुछ समय से लापता वायु सेना के AN-32 विमान के संबंध में भारतीय वायुसेना के उप प्रमुख एयर मार्शल राकेश सिंह भदौरिया से बातचीत की. उन्होंने मुझे वायुसेना के इस लापता विमान को लेकर उठाये गए कदमों की जानकारी दी. मैं इसमें सवार सभी यात्रियों की सुरक्षा के लिये प्रार्थना करता हूं.’’

ममता बनर्जी का बयान- लोकतंत्र बचाना है तो बैलेट पेपर से हो चुनाव, BJP फैला रही फेक न्यूज

First published: 4 June 2019, 8:12 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी