Home » इंडिया » Senior journalist Rajdeep sardesai could be the CM face for AAP in Goa
 

आम आदमी पार्टी का खास पत्रकार: गोवा चुनाव में आप का चुनावी चेहरा हो सकते हैं राजदीप सरदेसाई

चारू कार्तिकेय | Updated on: 24 May 2016, 8:24 IST
QUICK PILL
  • चर्चाएं हैं कि गोवा में होने वाले विधानसभा चुनाव से करीब साल भर पहले आप ने मशहूर पत्रकार राजदीप सरदेसाई में अपने भावी मुख्‍यमंत्री का चेहरा खोज लिया है.
  • अटकलें हैं कि लगातार भक्तों और सोशल मीडिया ट्रॉलर्स के निशाने पर रहे राजदीप ने मजबूरन अपने लिए राजनीतिक छांव तलाश ली है.
  • आम आदमी पार्टी को अपने अगले चुनावी अखाड़े के लिए एक बड़ा चेहरा हाथ लगा है. ख़बर है कि तटीय राज्‍य गोवा में होने वाले आगामी विधानसभा चुनाव से करीब साल भर पहले आप ने मशहूर पत्रकार राजदीप सरदेसाई में अपने भावी मुख्‍यमंत्री का चेहरा खोज लिया है. सरदेसाई देश के जाने-माने टीवी पत्रकार हैं और फिलहाल इंडिया टुडे समूह में सलाहकार संपादक हैं.

    गोवा की राजधानी पणजी में आयोजित पार्टी की पहली चुनावी रैली में 22 मई को राजदीप मौजूद थे, जहां पार्टी के मुखिया अरविंद केजरीवाल ने एलान किया कि पार्टी अगले साल होने वाले चुनाव में कुल 40 सीटों पर लड़ेगी. उन्‍होंने राजदीप के बारे में हालांकि कोई घोषणा नहीं की लेकिन उनकी वहां मौजूदगी ही अटकलों को पैदा करने के लिए काफ़ी रही. ये अटकलें पूरी तरह निराधार नहीं हैं.

    आम आदमी पार्टी के सूत्रों ने कैच को बताया कि सरदेसाई से इस बारे में बातचीत चल रही है हालांकि कोई अंतिम फैसला अब तक नहीं लिया गया है. सरदेसाई ने इसका खंडन किया है, हालांकि उन्‍होंने दैनिक दि नवहिंद टाइम्‍स को बताया कि ''गोवा की जनता यदि मुझे मुख्‍यमंत्री बनने को कहती है तो मैं तैयार हूं.''

    सोशल मीडिया में चर्चा

    सरदेसाई ने गोवा की तरक्‍की समेत एक विश्‍वस्‍तरीय हवाई अड्डे के न होने जैसी कुछ समस्‍याओं पर सिलसिलेवार ट्वीट किए हैं.

    सोशल मीडिया पर यह चर्चा ज़ोरों पर है कि वे आम आदमी पार्टी में जा रहे हैं. पार्टी पर निगाह रखने वाले कई लोग इस बारे में ट्विटर और फेसबुक पर चर्चा कर रहे हैं.

    राजनीतिक हलकों में भी सरदेसाई की इस ख़बर पर माहौल गरम है और प्रतिक्रियाएं आ रही हैं.

    गोवा से रिश्‍ता

    सरदेसाई का जन्‍म गुजरात में हुआ, वे महाराष्‍ट्र में पले-बढ़े और काम के सिलसिले में दिल्‍ली आकर बसे लेकिन वे आंशिक रूप से गोवा के बेशक हैं क्‍योंकि उनके पिता व पूर्व टेस्‍ट क्रिकेटर दिलीप सरदेसाई गोवा में ही जन्‍मे थे. सरदेसाई मानते हैं कि वे दिल से गोवा के ही हैं.

    दैनिक लोकमत ने उन्‍हें उसी दिन उन्‍हें 'गोवन ऑफ दि इयर' के सम्‍मान से नवाज़ा. उन्‍हें मुख्‍यमंत्री लक्ष्‍मीकांत पारसेकर ने यह पुरस्‍कार दिया. एनडीटीवी को दिए एक साक्षात्‍कार में मुख्‍यमंत्री ने कहा, ''मुझे लगता है कि उन्‍हें यदि मौका मिला तो गोवा से चुनाव लड़ना वे पसंद करेंगे.''

    गोवा विधानसभा का कार्यकाल 18 मार्च 2017 को समाप्‍त हो रहा है इसलिए वहां फरवरी या मार्च में चुनाव हो सकता है. राज्‍य में भ्रष्‍टाचार के खिलाफ़ कायम सशक्‍त माहौल के मद्देनज़र आम आदमी पार्टी अपने लिए यहां अच्‍छी संभावनाओं को देख रही है.

    पार्टी में वैसे भी तमाम ऐसे नेता हैं जो पहले पत्रकार रह चुके हैं. इनमें दिल्‍ली के उपमुख्‍यमंत्री मनीष सिसोदिया, प्रवक्‍ता और राष्‍ट्रीय कार्यकारिणी के सदस्‍य आशुतोष और दिल्‍ली डायलॉग कमीशन के प्रमुख आशीष खेतान प्रमुख हैं.

    संयोग से आशुतोष और सरदेसाई आइबीएन 18 नेटवर्क में साथ काम कर चुके हैं, जिसे राजदीप ने अमेरिकी समाचार कंपनी सीएनएन और मीडिया कारोबारी राघव बहल के साथ मिलकर स्‍थापित किया था. राजदीप और उनकी पत्‍नी सागरिका घोष ने जुलाई 2014 में नेटवर्क 18 से इस्‍तीफ़ा दे दिया था. इसके ठीक दो महीने पहले ही नेटवर्क 18 पर रिलायंस इंडस्‍ट्रीज़ लिमिटेड का नाटकीय तरीके से कब्‍ज़ा हुआ था.

    सरदेसाई ने अपने इस्‍तीफ़े में कथित तौर पर लिखा था, ''26 साल की पत्रकारिता में मेरा भरोसा संपादकीय स्‍वतंत्रता और अखंडता पर रहा है और अब शायद बदलने के लिहाज से मैं काफी बूढ़ा हो चुका हूं.''

    (राजदीप सरदसाई का इस्तीफा)

    First published: 24 May 2016, 8:24 IST
     
    चारू कार्तिकेय @CharuKeya

    Assistant Editor at Catch, Charu enjoys covering politics and uncovering politicians. Of nine years in journalism, he spent six happily covering Parliament and parliamentarians at Lok Sabha TV and the other three as news anchor at Doordarshan News. A Royal Enfield enthusiast, he dreams of having enough time to roar away towards Ladakh, but for the moment the only miles he's covering are the 20-km stretch between home and work.

    पिछली कहानी
    अगली कहानी