Home » इंडिया » Seven Indian from UP Bihar Andhra Pradesh and Gujarat nationals kidnapped in Libya released
 

लीबिया में अगवा किए गए सातों भारतीय नागरिक रिहा, केंद्र सरकार के कड़े एक्शन से हुई सुरक्षित रिहाई

कैच ब्यूरो | Updated on: 12 October 2020, 7:26 IST

7 Indian nationals kidnapped in Libya released: लीबिया (Libya) में पिछले महीने अगवा किए गए सातों भारतीय नागरिकों (Indian Nationals) को रिहा कर दिया गया है. ट्यूनीशिया में भारत के राजदूत ने रविवार को इस बारे में जानकारी दी है. इन सातों भारतीय नागिरकों का लीबिया के अश्शरीफ से 14 सितंबर को अपहरण कर लिया गया था. ये सातों नागरिक उत्तर प्रदेश, बिहार, आंध्र प्रदेश, और गुजरात के रहने वाले हैं. ट्यूनीशिया में भारतीय राजदूत पुनीत रॉय कुंडल ने न्यूज एजेंसी एएनआई (ANI) को उनकी रिहाई की खबर की पुष्टि की है.

बता दें कि लीबिया में भारतीय दूतावास (Indian Embassy) नहीं है. इसलिए ट्यूनीशिया (Tunisia) में स्थित भारतीय मिशन (Indian Mission) ही लीबिया में भारतीयों (Indians) के लिए काम करता है. गुरुवार को भारत ने इस बात की पुष्टि की थी कि पिछले महीने लीबिया में उसके सात नागरिकों का अपहरण कर लिया गया था. जिनकी रिहाई के लिए हर संभव कोशिश की जा रही है. विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने कहा था कि अपहृत श्रमिक सुरक्षित हैं और ट्यूनीशिया में भारतीय मिशन उन्हें मुक्त करने के प्रयासों के लिए लीबिया सरकार के संपर्क में है.


Video: गुजरात में विशेष तरीके से हो रहा कोरोना मरीजों का इलाज, संक्रमितों को सुनाया जा रहा संगीत

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अनुराग श्रीवास्तव ने कहा था, "ट्यूनीशिया में हमारा दूतावास, जो लीबिया में भारतीय नागरिकों के कल्याण से संबंधित मामलों को संभालता है, लीबिया के सरकारी अधिकारियों तक पहुंच गया है. वहां मौजूद अंतरराष्ट्रीय संगठनों ने भी भारतीय नागरिकों को बचाने में उनकी मदद लेने के लिए नियोक्ता को नियुक्त किया है." उन्होंने यह भी कहा था कि अपहरणकर्ताओं द्वारा संपर्क किया गया और सबूत के तौर पर दिखाया गया कि भारतीय नागरिक सुरक्षित हैं और वह उन्हें अच्छी तरह से रख रहे हैं.

Coronavirus: स्वास्थ्य मंत्री ने आगामी त्योहारों को लेकर किया सचेत, कहा- भगवान नहीं कहते जश्न मनाना है

बता दें कि सितंबर 2015 में भारतीय नागरिकों को वहां की सुरक्षा स्थिति के मद्देनजर लीबिया की यात्रा से बचने की सलाह जारी की गई थी. बाद में मई 2016 में सरकार ने अत्यधिक बिगड़ती सुरक्षा स्थिति के मद्देनजर इस उद्देश्य के लिए पूर्ण यात्रा प्रतिबंध लगा दिया. यह यात्रा प्रतिबंध अभी भी लागू है. लेकिन लीबिया में उससे पहले भी सैकड़ों भारतीय मौजूद है जिनके साथ इस तरह की घटनाएं हो जाती हैं.

Hathras Case: कड़ी सुरक्षा में लखनऊ के लिए रवाना हुआ पीड़ित परिवार, आज होगी कोर्ट में सुनवाई

First published: 12 October 2020, 7:26 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी