Home » इंडिया » Shaheed Bhagat Singh quotes in hindi birthday special 110th Birth Anniversary
 

'ज़िंदगी अपने दम पर जी जाती है, दूसरों के कन्धों पर तो सिर्फ़ जनाज़े उठाए जाते हैं'

कैच ब्यूरो | Updated on: 28 September 2017, 12:18 IST

सरदार भगत सिंह, एक ऐसा नाम जिसे सुनते ही रगों में देशभक्ति का खून दौड़ने लगता है आैर सीना गर्व से चौड़ा हो जाता है. एेसा जांबाज योद्धा जिसने महज 23 साल की उम्र में अंग्रेजों को उनकी सही जगह दिखा दी और अपने आप को देश के लिए बलिदान कर दिया.

भगत सिंह के विचार बताते हैं कि वो फौलादी इरादों वाले महान क्रांतिकारी थे. यही वजह है कि उन्हें शहीद-ए-आज़म के ओहदे से नवाज़ा जाता है. आइए आज हम उस देशभक्त के क्रांतिकारी विचारों और उनकी पसंदीदा शायरियों के बारे में जानते हैं...

1. प्रेमी, पागल, और कवि एक ही चीज से बने होते हैं.

2. कठोरता आैर आजाद सोच ये दोनों क्रांतिकारी होने के गुण हैं.

3. राख का हर एक कण मेरी गर्मी से गतिमान है मैं एक ऐसा पागल हूं जो जेल में भी आज़ाद है.

4. यदि बहरों को सुनना है तो आवाज़ को बहुत जोरदार होना होगा. जब हमने बम गिराया तो हमारा ध्येय किसी को मारना नहीं था. हमने अंग्रेजी हुकूमत पर बम गिराया था. अंग्रेजों को भारत छोड़ना चाहिए और उसे आज़ाद करना चहिये.

5. किसी को 'क्रांति' शब्द की व्याख्या शाब्दिक अर्थ में नहीं करनी चाहिए. जो लोग इस शब्द का उपयोग या दुरुपयोग करते हैं उनके फायदे के हिसाब से इसे अलग-अलग अर्थ और अभिप्राय दिए जाते हैं.

6. आम तौर पर लोग चीजें जैसी हैं उसके आदी हो जाते हैं और बदलाव के विचार से ही कांपने लगते हैं. हमें इसी निष्क्रियता की भावना को क्रांतिकारी भावना से बदलने की ज़रूरत है.

7. मैं इस बात पर जोर देता हूं कि मैं महत्त्वाकांक्षा, आशा और जीवन के प्रति आकर्षण से भरा हुआ हूं. पर मैं ज़रूरत पड़ने पर ये सब त्याग सकता हूं, और वही सच्चा बलिदान है.

8. किसी भी कीमत पर बल का प्रयोग ना करना काल्पनिक आदर्श है और नया आन्दोलन जो देश में शुरू हुआ है और जिसके आरम्भ की हम चेतावनी दे चुके हैं वो गुरु गोबिंद सिंह और शिवाजी, कमाल पाशा और राजा खान , वाशिंगटन और गैरीबाल्डी, लेनिन के आदर्शों से प्रेरित हैं.

9. किसी व्यक्ति को कुचल कर, वे विचारों को नहीं मार सकते. 

10. क्रांति में सदैव संघर्ष हो यह आवश्यक नहीं, यह बम आैर पिस्तौल की राह नहीं है.

First published: 28 September 2017, 9:25 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी