Home » इंडिया » shankaracharya comment on mathura clash
 

स्वरूपानंद सरस्वती: मथुरा हिंसा के पीछे यादव-यादव का खेल

कैच ब्यूरो | Updated on: 6 June 2016, 15:30 IST
(पीटीआई)

मथुरा के जवाहर बाग इलाके में बीते दिनों हुई हिंसा के लिए शंकराचार्य स्वरूपानंद सरस्वती ने जातिवाद को जिम्मेदार ठहराया है. यूपी के ललितपुर में पत्रकारों से बात करते हुए कहा स्वरूपानंद ने अखिलेश यादव सरकार पर निशाना साधा.

शंकराचार्य ने इस दौरान कहा कि समाजवादी पार्टी की सरकार में जातिवाद का बोलबाला है और यादव-यादव के चक्कर में मथुरा की घटना हुई है.

उन्होंने कहा कि वर्तमान समय में उत्तर प्रदेश में हर जगह केवल यादवों का राज है और मथुरा के जवाहर बाग में यादवों ने ही जमीन पर कब्जा किया था. अखिलेश सरकार की लापवाही का नतीजा था कि वहां पर यादवों ने इतने हथियार इकट्ठा किए थे.

शंकराचार्य ने मथुरा हिंसा पर अखिलेश सरकार को तो घेरा ही, साथ ही उन्होंने केंद्र की मोदी सरकार पर भी निशाना साधा. स्वरूपानंद सरस्वती ने कहा कि केंद्र की मोदी सरकार को दो साल हो चुके हैं, लेकिन इस सरकार ने जनता से किए अपने एक भी वादे को पूरा नहीं किया है.

स्वरूपानंद सरस्वती ने कहा, "मोदी सरकार विकास के नाम पर केवल शौचालयों का ही निर्माण कराने में लगी है. करोड़ों लोगों की गरीबी और भुखमरी से इस सरकार का कोई लेना-देना नहीं है."

साथ ही उन्होंने कहा, "देश में सभी स्कूलों और कॉलेजों में भगवान राम के चित्र लगने चाहिए. लेकिन सरकार ने ऐसा कुछ भी नहीं किया.

हमारे यहां मुसलमान बच्चे तो मदरसों में इस्लाम की शिक्षा ले सकते हैं, ईसाई मिशनरी स्कूलों में बाइबिल पढ़ सकते हैं, लेकिन हमारे बच्चे अपने धर्म की शिक्षा के लिए कहां जाएं?"

First published: 6 June 2016, 15:30 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी