Home » इंडिया » Shiv Sena mouthpiece Saamana heaps praise on Amit Shah for considering delimitation of J&K constituencies
 

शिवसेना के मुखपत्र सामना ने की गृह मंत्री अमित शाह की जमकर तारीफ

कैच ब्यूरो | Updated on: 6 June 2019, 10:03 IST

शिवसेना के मुखपत्र सामना ने कई बार अपने संपादकीय में भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) की आलोचना की है लेकिन इस बार सामना ने अपने संपादकीय में जम्मू-कश्मीर में विधानसभा क्षेत्रों के परिसीमन पर अमित शाह पर बड़े पैमाने पर प्रशंसा की है. सामना ने अपने संपादकीय में अमित शाह की तारीफ करते हुए लिखा है कि उन्होंने गृह मंत्री का कार्यभार संभालने के बाद जम्मू-कश्मीर पर निर्णायक इरादा दिखाया है.

सामना ने अपने संपादकीय में लिखा गया है ''एक दृढ़ दृष्टिकोण की लंबे समय से जरूरत थी. इससे पहले गृह मंत्री अमित शाह ने जम्मू और कश्मीर में सुरक्षा स्थिति के बारे में दिल्ली में एक समीक्षा बैठक की. बैठक में संभावित परिसीमन पर भी चर्चा की गई. हालांकि इस बारे में केंद्र की ओर से कोई पुष्टि नहीं की गई है, लेकिन फिर भी यह सुनिश्चित करने के लिए कहा जा सकता है. सरकार ने अनौपचारिक रूप से अपने इरादे स्पष्ट कर दिए हैं''.


इसमें लिखा गया है ''जम्मू कश्मीर में क्षेत्रीय दल लंबे समय से परिसीमन के खिलाफ हैं और उनका कहना है कि इससे स्थानीय लोग इससे नाराज होंगे. कांग्रेस की अगुवाई वाली यूपीए सरकार इस मुद्दे पर पीछे हट गई थी लेकिन अमित शाह अब, समय बदल गया है और अमित शाह ने इस मुद्दे को प्राथमिकता दी है. सरकार बेकार और अनावश्यक चर्चाओं में समय बर्बाद नहीं करेगी.”

संपादकीय में यह भी उल्लेख किया गया है कि जम्मू-कश्मीर में अब तक की राजनीति यहां मुस्लिम बहुल आबादी के दबाव में हुई है. सामना ने लिखा है "परिसीमन का विरोध किया गया है ताकि कोई भी हिंदू कभी भी राज्य का मुख्यमंत्री न बन सके. इसे रोकने की जरूरत है. अगर जम्मू और कश्मीर का सीएम हिन्दू बन जाता है तो आसमान नहीं गिरेगा और यह मानसिकता बदलने के लिए कोई प्रयास नहीं किया गया है."

रोजगार संकट की चुनौती से निपटने के लिए मोदी सरकार ने किया दो समितियों का गठन

First published: 6 June 2019, 9:45 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी