Home » इंडिया » Shiv Sena: Revoke citizenship, voting rights of those not chanting 'Bharat Mata Ki Jai
 

'भारत माता की जय' न बोलने वालों की नागरिकता छीन लेनी चाहिए: शिवसेना

कैच ब्यूरो | Updated on: 17 March 2016, 13:01 IST

शिवसेना के मुखपत्र सामना के संपादकीय में कहा गया है कि जो लोग 'भारत माता की जय' बोलने से इनकार करते हैं, उनकी नागरिकता और मताधिकार छीन लेना चाहिए.

संपादकीय में लिखा गया, 'हार्दिक पटेल ने गलती से राष्ट्रीय ध्वज का अपमान कर दिया था और उसपर देशद्रोह का मुकदमा लगाया गया, वह अब भी जेल में है. क्या भारत माता का अपमान करके असदुद्दीन ओवैसी ने भी देशद्रोह नहीं किया है जो लोग भारत माता की जय नहीं कहते हैं, उनकी नागरिकता और मताधिकार छीन लिए जाने चाहिए.'

महाराष्ट्र: 'भारत माता की जय' नहीं बोलने पर विधायक पठान सदन से निलंबित

सामना के लेख में महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फणनवीस से सवाल किया गया कि भारत-समर्थक नारे लगाने से मना करने के बाद ओवैसी को राज्य से जाने कैसे दिया गया.

पढ़ें: सांसद ओवैसी के बंगले पर लगाए गए 'देशद्रोही' होने के पोस्टर

आपको बता दें कि एमआईएम नेता और लोकसभा सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने भी कहा था कि वो 'भारत माता की जय' कभी नहीं बोलेंगे. ओवैसी की यह प्रतिक्रिया राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ प्रमुख मोहन भागवत के उस बयान के बाद आई है जिसमें उन्होंने नई पीढ़ी को भारत माता की जयकार करने की जरूरत बताई थी.

First published: 17 March 2016, 13:01 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी