Home » इंडिया » shivsena uddhav thackeray attacks on modi when demonetisation can happen overnight why ram mandir decision is pending
 

शिवसेना का BJP पर वार- नोटबंदी तत्काल हो सकती है तो राम मंदिर पर देरी क्यों?

कैच ब्यूरो | Updated on: 15 July 2018, 7:46 IST

लोकसभा चुनाव 2019 को लेकर सियासी माहौल गर्म है. हाल ही में अमित शाह के राम मंदिर निर्माण से जुड़े बयान का बीजेपी ने खंडन किया है. इसी बीच शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने भी भारतीय जनता पार्टी पर निशाना साधा है. ठाकरे ने राम मंदिर मुद्दे को लेकर भाजपा के निर्णय में देरी की आलोचना की है.

ठाकरे ने कहा कि जब पूरे देश में एक रात में नोटबंदी जैसा फैसला लिया जा सकता है तो फिर सालों से चल रहे राम मंदिर मुद्दे को टाला क्यों जा रहा है. जब सरकार तत्काल प्रभाव से नोटबंदी कर सकती है तो राम मंदिर पर फैसला क्यों नहीं ले सकती.

ये भी पढ़ें- सुप्रीम कोर्ट की फटकार- व्हाट्सऐप संदेशों को टैप कर 'निगरानी राज' बनाना चाहती है सरकार?

शिवसेना पार्टी में नेताओं की बैठक के बाद उद्धव ठाकरे से मीडिया से मुखातिब होते हुए कहा, ‘‘ वे (भाजपा) चुनाव से पहले राम मंदिर निर्माण, समान नागरिक संहिता और जम्मू कश्मीर में धारा 370 हटाने की बात करते हैं लेकिन किस चुनाव में 2019 या 2050, वे यह नहीं बताते.’’

ठाकरे ने कहा, ‘‘ आपने (भाजपा सरकार) जिस तरह से नोटबंदी का तत्काल निर्णय किया, आप राम मंदिर निर्माण का भी तत्काल निर्णय कर सकते हैं क्योंकि आपके पास बहुमत है.’’

 

भाजपा के एजेंडा पर तंज करते हुए ठाकरे ने कहा कि अभी तक भाजपा का एजेंडा विकास था, लेकिन अब लगता है कई विकास की जगह राम मंदिर के मुद्दे ने ले ली है. गौरतलब है कि हाल ही में अमित शाह के एक बयान को लेकर राम मंदिर का मामला और गरमाने के आसार बन गए थे, जिस खबर को बाद में बीजेपी ने खंडित करते हुए सफाई दी थी कि राम मंदिर पार्टी एजेंडा नहीं है.

ये भी पढ़ें- अमित शाह के लोकसभा चुनाव से पहले राम मंदिर निर्माण के बयान को BJP ने बताई अफवाह

गौरतलब है कि खबरों के अनुसार अमित शाह ने लोकसभा चुनाव 2019 के पहले ही राम मंदिर के निर्माण की शुरुआत करने का दावा किया था. पार्टी ने बाद में इस खबर को अफवाह बताते हुए इसका खंडन किया.

First published: 15 July 2018, 7:46 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी