Home » इंडिया » Shops, malls, restaurants now allowed to remain open 24/7
 

अब 24 घंटे, सातों दिन बेरोक-टोक शॉपिंग

कैच ब्यूरो | Updated on: 29 June 2016, 16:55 IST

क्या आप यकीन कर सकते हैं कि रात के बारह बजे के बाद भी शॉपिंग हो सकती है या आप किसी मॉल या रेस्त्रां में घूमने जा सकते हैं. जी हां ऐसा अब मुमकिन होने वाला है.  

केंद्रीय सरकारी कर्मचारियों को सातवें वेतन आयोग की सिफारिशों का तोहफा देने के साथ ही मोदी कैबिनेट ने आज एक और अहम फैसले पर मुहर लगाई है. जिसके अमल में आने के बाद आप किसी भी दिन किसी भी वक्त बाजार में सैर-सपाटे के लिए निकल सकते हैं.  

केंद्रीय कैबिनेट की आज हुई अहम बैठक में मॉडल शॉप्स एंड इस्टैब्लिशमेंट बिल को मंजूरी दे दी गई है. इस बिल के तहत शॉपिंग मॉल में कर्मचारियों के काम के हालात को और बेहतर करने का प्रस्ताव है. 

ये भी कहा जा रहा है कि अब शॉपिंग मॉल या बड़ी दुकानों में महिलाओं को नाइट शिफ्ट की इजाजत देने का रास्ता साफ हो गया है.  

क्या है मॉडल शॉप्स एंड इस्टैब्लिशमेंट बिल?

मॉडल शॉप्स एंड इस्टैब्लिशमेंट बिल का नियम 10 से ज्यादा कर्मचारियों वाली दुकानों में लागू होगा. वहीं, दुकान खोलने या बंद करने के लिए पूरे देश में एक समान नियम होगा. 

साथ ही दुकानों के रजिस्ट्रेशन को पूरे देश में एक समान करने का इस बिल में प्रस्ताव है. इस एक्ट के तहत तीन से चार महत्वपूर्ण प्रावधान हैं. 

बिल में प्रस्तावित नियम के मुताबिक थिएटर, शॉपिंग मॉल, रेस्त्रां को रात भर खोलने की छूट दी जाएगी. अभी देश के अलग-अलग राज्यों में नियम एक जैसे नहीं हैं. कहीं 9 बजे तक, कहीं 10 और कहीं 11-12 बजे तक दुकान खोलने का नियम है. 

इस बिल में शॉपिंग मॉल में महिलाओं के काम करने की स्थिति को और बेहतर करने की कोशिश भी की गई है. कार्यस्थलों पर उनके साथ होने वाले भेदभाव को भी इससे रोका जा सकेगा.  

दुकानों के रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया पूरे देश में एक समान हो, इसी को ध्यान में रखकर बिल बनाया गया है. अब इस बिल को संसद के मानसून सत्र में पास कराने की कोशिश की जाएगी. 

हालांकि, ये राज्यों पर निर्भर करेगा कि वो इसे अपने यहां किस प्रकार से लागू करते हैं. अभी हर राज्य का अपना शॉप्स एंड इस्टैबलिशमेंट एक्ट है. जो राज्य इस कानून के हिसाब से अपने यहां बदलाव करेगा, वहीं पर ये नियम लागू होगा. 

First published: 29 June 2016, 16:55 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी