Home » इंडिया » siddhu telling in press conference where Punjab will benefit, you will find me standing there
 

इस्तीफे के बाद पहली बार बोले सिद्धू, जो भी पंजाब का भला करेगा मैं उसके साथ

कैच ब्यूरो | Updated on: 11 February 2017, 6:44 IST
(एएनआई)

राज्यसभा सांसद के पद से इस्तीफा देने वाले पूर्व क्रिकेटर नवजोत सिंह सिद्धू ने इस मामले में चुप्पी तोड़ते हुए एक प्रेस कॉन्फ्रेंस की. इस दौरान सिद्धू ने बीजेपी छोड़ने के सवाल पर कोई टिप्पणी नहीं की. 

साथ ही सिद्धू ने पत्रकारों को संबोधित करते हुए आम आदमी पार्टी में जाने की अटकलों के बारे में कुछ नहीं बोला. उन्होंने कहा कि जहां भी पंजाब और अमृतसर का भला होगा, वह वहां खड़े रहेंगे.

इसके अलावा उन्होंने बीजेपी पर आरोप लगाया कि उन्हें राज्यसभा का सांसद केवल इसलिए बनाया गया था कि वो पंजाब की सियासत से दूर रहें. उन्होंने कहा, "मुझे पार्टी ने कुरुक्षेत्र और वेस्ट दिल्ली से चुनाव लड़ने के लिए कहा था, लेकिन उन्होंने अपने लोगों को धोखा देने से मना कर दिया."

बीजेपी के आंतरिक कलह की ओर इशारा करते हुए नवजोत सिद्धू ने कहा, "जब मोदी साहब की लहर आई थी तो विरोधी तो डूबे ही साथ ही सिद्धू को डुबा दिया गया."

उन्होंने कहा कि ऐसा पहली बार नहीं है, मैं दो-तीन बार और भुगत चुका हूं. परोक्ष तौर पर बीजेपी को चेतावनी देते हुए सिद्धू ने कहा कि दुनिया की कोई पार्टी न तो पंजाब से उपर है और न ही बड़ी. 

नवजोत सिंह सिद्धू ने प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान कहा, "एक नहीं सौ बार पार्टी, परिवार और पंजाब में से किसी एक चुनना होगा, तो वह पंजाब को चुनेंगे."

गौरतलब है कि कलर्स टीवी चैनल पर रविवार को प्रसारित 'कपिल शर्मा शो' में कपिल शर्मा ने मजाकिया अंदाज में सिद्धू से पूछा कि उन्होंने पार्टी (बीजेपी) क्यों छोड़ी.

कपिल के इस सवाल के दागते ही सकपकाए सिद्धू के चेहरे पर हवाइयां उड़ने लगीं. उसके बाद सिद्धू अपनी कुर्सी पर खड़े हो गए और शो के डायरेक्टर से कट कट कट बोलने लगे.

सिद्धू ने इस मामले को शो से बाहर का हिस्सा कहते हुए कन्नी काट ली. लेकिन उनकी पत्नी नवजोत कौर ने इस मामले में बयान देते हुए साफ कह दिया कि सिद्धू ने राज्यसभा से इस्तीफा दिया यानी उन्होंने बीजेपी से भी इस्तीफा दे दिया है.

वहीं पंजाब बीजेपी के प्रमुख विजय सांपला ने रविवार को कहा कि नवजोत सिंह सिद्धू अब भी बीजेपी के सदस्य हैं और उनका पार्टी के खिलाफ कोई 'निजी दुर्भाव' नहीं है.

First published: 25 July 2016, 2:03 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी