Home » इंडिया » Smriti Irani: Interesting story and controversy after that defeated Rahul Gandhi from Amethi Lok Sabha
 

ज्योतिषी ने की थी भविष्यवाणी- जीवन में कुछ नहीं कर पाएंगी स्मृति ईरानी, ये काम कर छुई बुलंदियांं

कैच ब्यूरो | Updated on: 30 May 2019, 17:10 IST

नरेंद्र मोदी आज शाम 7 बजे राष्ट्रपति भवन में होने वाले एक भव्य समारोह में राष्ट्रपति पद की शपथ लेंगे. इस दौरान कई और सांसद भी मंत्री पद की शपथ लेंगे. इसमें स्मृति ईरानी का नाम भी प्रमुख है. वैसे तो स्मृति ईरानी मोदी सरकार के पहले कार्यकाल में भी कैबिनेट मंत्री रह चुकी हैं. मोदी सरकार के पहले कार्यकाल में उन्हें भारी-भरकम मंत्रालय एचआरडी और कपड़ा मंत्रालय का जिम्मा मिल चुका है.

स्मृति ईरानी का इस बार मंत्री बनना कुछ खास है. क्योंकि इस बार वह पहली बार लोकसभा चुनाव जीतकर सांसद बनी हैं. इससे पहले वह राज्यसभा से सांसद थीं. ईरानी ने इस बार कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को उनके गढ़ अमेठी से मात देकर लोकसभा का टिकट लिया है. इसलिए माना जा रहा है कि इस बार ईरानी को और भारी मंत्रालय मिल सकता है. 

मैकडॉनल्ड में किया वेटर का काम

ईरानी आज देश की बड़ी नेताओं में शुमार हो चुकी हैं. लेकिन यह ऐसे ही नसीब नहीं हुआ है. इसके लिए ईरानी ने कड़ी मेहनत की है और लगन दिखाई है. एक जमाने में वह पेट भरने के लिए रेस्टोरेंट में काम करती थीं. मैकडॉनल्ड में उन्होंने वेटर का काम किया लेकिन आज वह बुुलंदियों के शिखर पर हैं. उनकी जिंदगी के कई रोचक किस्से हैं.

ज्योतिषी ने कहा था जीवन में कुछ नहीं कर पाएंगी

ईरानी ने बताया था कि उनके टेलीविजन करियर शुरू करने के समय उनके माता-पिता ने एक बार एक ज्योतिष को घर पर बुलाया था. तब उस ज्योतिषी ने कुंडली देखकर कहा कि स्मृति ईरानी अपनी जिंदगी में कुछ नहीं कर पाएंगी. इसके बाद स्मृति ईरानी ने ज्योतिषी को चुनौती देते हुए कहा था कि आज से ठीक 10 साल बाद आप मुझसे मिलना.

ईरानी ने इसके बाद खूब मेहनत की और ज्योतिषी की भविष्यवाणी को झुठलाते हुए टेलीविजन सीरियल की इतनी पॉपुलर किरदार बनीं कि घर-घर में वह पहचानी जाने लगीं. इसके बाद राजनीति में भी उन्होंने सफलता के झंडे गाड़े और आज देश की टॉप राजनेताओं में जानी जाती हैं. 

मरने के लिए बिना कपड़े जमीन पर लिटा दिया था

स्मृति ईरानी की जिंदगी सामाजिक रूढ़ियों से संघर्ष में बीती है. उनका जन्म दिल्ली के एक मध्यमवर्गीय परिवार में हुआ था. एक बार एक इंटरव्यू में उन्होंने बताया था कि बेटी पैदा करने की वजह से उनकी मां को ताने दिए जाते थे. बचपन में वो किसी गंभीर बीमारी से पीड़ित थीं.

इस हालत में परिवार की एक बुजुर्ग महिला ने उन्हें बिना कपड़ों के जमीन पर लिटा दिया था, ताकि वो मर जाएं. जब मां ने इसका विरोध किया तो उन्हें कहा गया कि बेटी है मर जाएगी तो तुम्हारी जिंदगी आसान होगी. हालांकि मां-बाप के प्रगतिशील होने की वजह से उन्हें बचाया गया और वो जिंदगी में आगे बढ़ पाईं.

First published: 30 May 2019, 17:10 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी