Home » इंडिया » Patiala House Court will pronounce order on October 18 in Smriti Irani's degree row
 

स्मृति ईरानी डिग्री विवाद: 18 अक्टूबर को आएगा फैसला, चुनाव आयोग ने सौंपे सर्टिफिकेट

कैच ब्यूरो | Updated on: 15 October 2016, 13:26 IST
(कैच)

केंद्रीय कपड़ा मंत्री स्मृति ईरानी से जुड़े डिग्री विवाद में फैसले की तारीख तय हो गई है. दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट इस मामले में 18 अक्टूबर को फैसला सुनाएगी.

इससे पहले मामले से जुड़े जरूरी दस्तावेज कोर्ट के सुपुर्द किए गए. दरअसल केस की सुनवाई कर रही पटियाला हाउस अदालत ने चुनाव आयोग से चुनावी हलफनामे के साथ स्मृति ईरानी द्वारा पेश सर्टिफिकेट मांगे थे.

शनिवार को जब मामले की दोबारा सुनवाई हुई, तो चुनाव आयोग ने ये प्रमाणपत्र कोर्ट में पेश कर दिए. अब पटियाला हाउस अदालत ने फैसला सुनाने के लिए 18 अक्टूबर की तारीख मुकर्रर की है.

क्या है पूरा विवाद?

स्मृति ईरानी ने 2014 का लोकसभा चुनाव अमेठी सीट से लड़ा था. पटियाला हाउस कोर्ट ने एविडेंस एक्ट की धारा 65(बी) के तहत सर्टिफिकेट पेश करने का निर्देश दिया था.

कोर्ट ने चुनाव आयोग से स्मृति की ओर से पेश सर्टिफिकेट देने को कहा था, जो चुनाव के दौरान जमा कराए गए थे. जिससे उनकी प्रामाणिकता की जांच हो सके.

अदालत में दाखिल याचिका में केंद्रीय कपड़ा मंत्री स्मृति ईरानी पर अपने चुनावी हलफनामे में गलत जानकारी देने का आरोप लगाया गया था. आरोपों के मुताबिक स्मृति ने अपनी शैक्षणिक योग्यता के बारे में जान-बूझकर गुमराह करने वाली जानकारी दी थी.

गलत जानकारी पर सजा मुमकिन

जनप्रतिनिधित्व कानून की धारा 125 और भारतीय दंड संहिता (आईपीसी) के प्रावधानों के तहत अगर कोई उम्मीदवार गलत जानकारी देता है, तो उसे सजा हो सकती है.

स्मृति ईरानी वर्तमान में राज्यसभा सदस्य हैं. उन्होंने कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी के खिलाफ अमेठी से लोकसभा का चुनाव लड़ा था. हालांकि चुनाव में उनकी हार हुई थी, लेकिन एनडीए की सरकार में उन्हें पहले मानव संसाधन विकास मंत्री और इसके बाद कपड़ा मंत्रालय की जिम्मेदारी दी गई है.

First published: 15 October 2016, 13:26 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी