Home » इंडिया » SMS service returned to Jammu and Kashmir after 150 days, Internet service in government hospitals
 

150 दिन बाद जम्मू-कश्मीर में लौटी SMS सेवा, सरकारी अस्पतालों में इंटरनेट सेवा

कैच ब्यूरो | Updated on: 1 January 2020, 12:46 IST

नए साल से ठीक पहले जम्मू-कश्मीर के लोगों ने रहत की सांस ली. राज्य में लगभग 150 दिन बाद मोबाइल फोन पर मैसेजिंग सेवा (SMS) मंगलवार आधी रात को बहाल कर दी गई. इसी तरह कश्मीर घाटी के सभी सरकारी अस्पतालों में ब्रॉडबैंड इंटरनेट कनेक्टिविटी की भी अनुमति दी गई है.

एक रिपोर्ट के अनुसार मीडिया को संबोधित करते हुए प्रमुख सचिव (योजना और विकास) रोहित कंसल ने कहा शासन ने कश्मीर घाटी में छात्रों, कॉन्ट्रैक्टरों, टूर ऑपरेटरों और सरकारी अधिकारियों तक इंटरनेट पहुंच को आसान बनाने के लिए लगभग 900 टच पॉइंट बनाए हैं.

उन्होंने कहा लगभग छह लाख लोग इस सुविधा का लाभ उठा पाएंगे. बीएसएनएल ने 5 सितंबर को अपनी लैंडलाइन सेवाएं फिर से शुरू थी, वहीं सभी ऑपरेटरों के लिए पोस्ट-पेड मोबाइल फोन सेवाएं 14 अक्टूबर को बहाल कर दी गई थी.

हालांकि जब तक इंटरनेट सेवाएं शुरू नहीं होने से व्यापार लेनदेन के मामले में बहुत बदलाव नहीं आएगा. लेकिन बैंक ग्राहकों को चेक क्लीयरेंस, एटीएम निकासी, बैंक खाता शेष और अन्य संदेशों से संबंधित एसएमएस प्राप्त करने के मामले में लाभ होगा. इससे पहले सोमवार को पांच राजनीतिक नेता, जो 5 अगस्त से हिरासत में थे, को श्रीनगर में एमएलए छात्रावास से रिहा किए गया.

पूर्व मुख्यमंत्री फारूक अब्दुल्ला, उमर अब्दुल्ला और महबूबा मुफ्ती अभी भी नजरबंद हैं. जम्मू में कांग्रेस नेताओं को नजरबंद रखने के कारणों के बारे में पूछे जाने पर कांसल ने कहा कि उन्हें कोई जानकारी नहीं है, लेकिन जब भी स्थानीय कानून लागू करने वाली एजेंसियों को स्थिति के आकलन के आधार पर इस तरह की आवश्यकता महसूस होती है, तो वे कार्रवाई करते हैं.

जम्मू-कश्मीर के नौशेरा में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़, दो जवान शहीद

First published: 1 January 2020, 12:37 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी