Home » इंडिया » social media reacts to Kanhaiya Kumar's arrest
 

जेएनयू विवाद: सोशल मीडिया पर दोनों पक्ष आमने-सामने

कैच ब्यूरो | Updated on: 13 February 2016, 16:57 IST

दिल्ली स्थित जवाहरलाल नेहरू युनिवर्सिटी में अफजल गुरु और मकबूल भट्ट से जुड़े एक कार्यक्रम को लेकर विवाद गहराता जा रहा है. इस मामले में जेएनयूएसयू के अध्यक्ष कन्हैया कुमार के गिरफ्तारी के बाद दोनों पक्षों के लोग तीखा आक्रोश व्यक्त कर रहे हैं.

जेएनयू के एक संगठन डेमोक्रेटिक स्टूडेंट यूनियन ने 'द कंट्री विदाउट ए पोस्ट ऑफिस' नामक कार्यक्रम का आयोजन 9 फरवरी को जेएनयू कैंपस में करने की योजना बनाई थी. अखिल भारतीय विधार्थी परिषद (एबीवीपी) ने इस कार्यक्रम का विरोध किया था.

इस मामले में दिल्ली से बीजेपी सांसद महेश गिरी और एबीवीपी का आरोप है कि इस कार्यक्रम में देश विरोधी नारे लगाए हैं. इसके बाद शुक्रवार दिल्ली पुलिस ने महेश गिरी की शिकातय के बाद राष्ट्रद्रोह और आपराधिक संयंत्र रचने के आरोप में जेएनयूएसयू अध्यक्ष और एआईएसएफ से जुड़े कन्हैया गिरफ्तार को गिरफ्तार किया है.

पढ़ें: राजनाथ के बयान के बाद जेएनयू छात्रसंघ अध्यक्ष कन्हैया गिरफ्तार

अब कन्हैया की गिरफ्तारी के बाद सोशल मीडिया पर कुछ लोग इसे सही जबकि कुछ लोग इसे गलत बता रहे हैं. सोशल मीडिया पर लोग हैशटैग #ShutdownJnu और #Standwithjnu के साथ ट्विट और पोस्ट कर रहे हैं.

फेसबुक पर प्रियभांशु सवाल करते हैं कि जब एफआईआर अज्ञात लोगों के खिलाफ दर्ज हुई थी तो दिल्ली पुलिस ने जेएनयू छात्र संघ के अध्यक्ष कन्हैया को किस आधार पर गिरफ्तार किया ?

kumar.jpg

फेसबुक के एक अन्य यूजर कुमार निशांत लिखते हैं, बीजेपी का विरोध करना अलग बात है और राष्ट्र का विरोध करना अलग. देश में हो रहे गलत चीजों का विरोध करो पर देश विरोधी मत बनो.

एक अन्य पोस्ट में श्रीजय श्रीकुमार लिखते हैं, 'मुझे तुम्हारे विचार पसंद नहीं, लेकिन मैं बोलने के तुम्हारे अधिकार का मरते दम तक बचाव करूंगा.'

ट्विटर पर #ShutDown jnu के साथ गणेश लिखते हैं, अफजल गुरु की फांसी की बरसी पर वामपंथी संगठनों द्वारा किया गया श्रद्धांजलि कार्यक्रम देश का दुर्भाग्य है.

दूसरी ओर कुछ लोगों का कहना है कि जेएनयू की घटना प्रायोजित थी. इस घटना का एक नया वीडियो सोशल मीडिया में वायरल हो रहा है जिसमें नारे लगा रहे लोगों को कथित तौर पर एबीवीपी से जुड़ा हुआ बताया जा रहा है.


सोशल मीडिया पर शफी खान दावा करते हैं, अभी अभी एक वीडियो सामने आया है जिसमे साफ-साफ दिख रहा है कि एबीवीपी का छात्र नेता जेेएनयू में पाकिस्तान जिंदाबाद का नारा दे रहा है.

First published: 13 February 2016, 16:57 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी