Home » इंडिया » Sohrabuddin Sheikh encounter case: Bombay HC discharges six Gujarat, Rajasthan police officers
 

सोहराबुद्दीन शेख मुठभेड़: बॉम्बे हाईकोर्ट ने गुजरात, राजस्थान के छह पुलिस अधिकारियों रिहा किया

कैच ब्यूरो | Updated on: 10 September 2018, 15:05 IST

सोमवार को बॉम्बे हाईकोर्ट ने सोहराबुद्दीन शेख फर्जी मुठभेड़ मामले के संबंध में गुजरात के पूर्व महानिरीक्षक डीजी वंजारा, पुलिस अधिकारी राजकुमार पांडियन और दिनेश एमएन सहित पांच गुजरात और राजस्थान पुलिसकर्मियों के बरी कर दिया है.

इनमें से डीजी वंजारा सेवानिवृत्त हो गए हैं जबकि अन्य दो अभी भी राजस्थान पुलिस की सेवा कार्यरत हैं. इन अधिकारियों के डिस्चार्ज को चुनौती देने वाली याचिकाओं को खारिज करते हुए अदालत ने गुजरात आईपीएस अधिकारी विपुल अग्रवाल को भी छुट्टी दी.

नवंबर 2005 में मुठभेड़ में गुजरात पुलिस ने शेख को मर गिराया था. शेख और उनकी पत्नी कौसरबी हैदराबाद से सांगली यात्रा कर रहे थे जब उन्हें गुजरात और राजस्थान पुलिस ने रोक दिया था. इस मामले में सब-इंस्पेक्टर पर कसरबी से कथित रूप से बलात्कार का आरोप लगा था.

 

शेख के सहयोगी तुलसीराम प्रजापति हत्याओं का एकमात्र गवाह था. घटना के बाद वह पुलिस हिरासत में थे लेकिन दिसंबर 2006 में एक और मुठभेड़ में गोली मार दी गई जब पुलिस ने दावा किया कि वह हिरासत से बचने की कोशिश कर रहा था.

सोहराबुद्दीन शेख के भाई रूबबुद्दीन ने वंजारा, पांडियन और दिनेश एमएन के निर्वहन को चुनौती दी, जबकि केंद्रीय जांच ब्यूरो ने राजस्थान पुलिस कांस्टेबल दलपत सिंह राठोड और गुजरात पुलिस अधिकारी एनके अमीन के डिस्चार्ज को चुनौती दी थी.

ये भी पढ़ें : भारत बंद: जहानाबाद में भीड़ में एंबुलेंस फंसने से बच्ची की मौत, BJP ने कांग्रेस को ठहराया जिम्मेदार

First published: 10 September 2018, 15:05 IST
 
अगली कहानी