Home » इंडिया » Some changes may take place in PMJAY Pradhan Mantri Jan Aarogya Yojana, Official says
 

PM मोदी की इस महत्वाकांक्षी स्कीम में बड़े बदलाव की तैयारी, 50 करोड़ लोगों को लगेगा झटका

कैच ब्यूरो | Updated on: 28 April 2019, 13:11 IST

वैसे तो केंद्र की मोदी सरकार ने कई कल्याणकारी योजनाओं की शुरुआत की है. जिनमें किसानों के लिए 6000 रूपये सालाना, उज्ज्वला (गैस कनेक्शन) योजना, प्रधानमंत्री आवास योजना प्रमुख हैं. इन स्कीम में समय-समय पर बदलाव भी किए जाते हैं. पूरे देश के 50 करोड़ लोगों को लाभ पहुंचाने वाले पीएम मोदी की महत्वाकांक्षी स्कीम आयुष्मान भारत-प्रधानमंत्री आरोग्य योजना में पहली बार बदलाव की तैयारी चल रही है.

आयुष्मान भारत योजना के तहत गरीब परिवारों को हर साल 5 लाख रूपये तक का मुफ्त इलाज कराने की सुविधा मिलती है. लेकिन अब राष्ट्रीय स्वास्थ्य प्राधिकरण (NHA) आयुष्मान योजना से मोतियाबिंद जैसे ऑपरेशन हटाने की तैयारी कर रहा है जिससे लाखों लोग इसका लाभ लेने से वंचित हो जाएंगे.

NHA के अधिकारियों के मुताबिक विभाग में मंथन चल रहा है कि योजना के तहत मिलने वाले सभी इलाज को बनाए रखा जाए या इनमें से कुछ को हटा दिया जाए. ऐसा इसलिए किया जा रहा है क्योंकि योजना के अनुरूप लोगों को स्वास्थ्य सुविधाएं देने के लिए पर्याप्त साधन नहीं हैं. हालांकि, अभी तक आयुष्मान भारत योजना के तहत मिलने वाले लाभों में कोई कटौती नहीं की गई है. पीएम नरेंद्र मोदी ने पिछले साल सितंबर में आयुष्मान भारत-प्रधानमंत्री आरोग्य योजना की शुरुआत की थी. इसमें लाभुक प्राइवेट और सरकारी हॉस्पिटल में 5 लाख तक मुफ्त इलाज करा सकते हैं.

NHA के आंकड़ों के अनुसार, देश के कुल 36 में से 33 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों ने इस योजना को लागू कर दिया है. आयुष्मान भारत योजना के तहत 200 दिनों में 21.67 लाख लोगों ने अपने विश्वास के अनुसार अस्पतालों में इलाज कराया है, जिस पर 2,881 करोड़ रूपये खर्च किए हैं. इसमें से 65 प्रतिशत से ज्यादा लोगों ने निजी अस्पतालों में इलाज कराया है. देशभर के 15,443 अस्पतालों को इस योजना से जोड़ा गया है. इस योजना का लक्ष्य गरीबों को भी गुणवत्तापूर्ण इलाज देना है.

First published: 28 April 2019, 13:11 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी