Home » इंडिया » Some of Indian Railway Employees working for terrorist organization ISI, called from Pakistan
 

रेलवे के कई कर्मचारी पाकिस्तान के लिए जासूसी करते पकड़े गए, हैरान रह गया रेलवे खुफिया विभाग

कैच ब्यूरो | Updated on: 23 July 2019, 16:10 IST

भारतीय रेलवे में काम करने वाले कई कर्मचारी पाकिस्तान के लिए जासूसी करते पकड़े गए हैं. इसके बाद रेलवे का खूफिया विभाग हैरान रह गया है. खुलासा हुआ है कि कई रेल कर्मचारियों को पाकिस्तान से फोन आते हैं. रेलवे का खुफिया विभाग इसे लेकर सतर्क हो गया है.

खुलासा हुआ है कि कई रेलवे कर्मचारी आतंकी संगठनों के लिए भी काम कर रहे हैं और रेलवे की सीक्रेट जानकारी उन्हें मुहैया करा रहे हैं. मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, जम्मू-कश्मीर में सिग्नल विभाग में तैनात मुद्दसर रशीद आतंकी संगठन में शामिल हो गया था. खुलासा हुआ है कि वह रेलवे में अपने कार्यकाल के दौरान भी आतंकी संगठनों के लिए जासूसी का काम करता था और उनकी हर वारदात में मदद करता था.

फिरोजपुर पंजाब के एक कर्मचारी गुरनाम सिंह ने बताया कि कुछ महीने पहले उनके मोबाइल पर पाकिस्तान से फोन आता था और उसे कई तरह के लालच दिए जाते थे. गुरनाम सिंह ने अपने संबंधित अधिकारियों को इस बाबत सूचित किया था. खुलासा हुआ है कि ऐसी कॉल अन्य कई रेलकर्मियों को आई थी.

पाकिस्तान से फोन करने वाला सेना की कौन-कौन सी स्पेशल ट्रेनें इधर से उधर चलती हैं, जैसी जानकारी उनसे हासिल करना चाहता था. अटारी अंतरराष्ट्रीय रेलवे स्टेशन पर कार्यरत गेटमैन राम केश्वर मीणा के पास से भी ऐसे ही कई संदिग्ध दस्तावेज बरामद हुए हैं. यह दस्तावेज देश की सुरक्षा से जुड़े हैं.

साल 2016 में उसकी रेलवे में नौकरी लगी थी, इसके बाद से वह अटारी रेलवे स्टेशन पर प्वाइंट मैन के पद पर तैनात किया गया था. बड़ी बात यह है कि प्वाइंट मैन पाक या किसी आतंकी संगठन के इशारे पर रेल पटरी में कोई खराबी पैदा कर दौड़ती ट्रेन को नुकसान पहुंचा सकता है.

बाढ़ आई तो 10 साल की इस नन्ही रिपोर्टर ने उधेड़ दी सरकार की बखिया, Video मचा रहा है धूम

सनसनीखेज दावा: शीला दीक्षित ने सोनिया गांधी से की थी पीसी चाको की शिकायत, दो दिन बाद हो गई मौत

First published: 23 July 2019, 16:10 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी